header ads

ननकाना साहिब मामला: दिल्ली से लेकर जम्मू तक प्रदर्शन, बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा

ननकाना साहिब मामला: दिल्ली से लेकर जम्मू तक प्रदर्शन, बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा


ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले को लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं. 

ननकाना साहिब मामला: दिल्ली से लेकर जम्मू तक प्रदर्शन, बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा

पाकिस्तान के पंजाब में ननकाना साहिब है. सिखों के पहले गुरु नानकदेव का जन्मस्थान. तीन जनवरी यानी शुक्रवार को सैकड़ों की भीड़ ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पत्थरबाजी की. गुरुद्वारे पर हमले के कई वीडियो सोशल मीडिया पर चल रहे हैं. एक वीडियो में एक कट्टरपंथी सिखों को ननकाना साहिब से भागने और शहर का नाम गुलाम अली मुस्तफा करने की धमकी देता दिख रहा है. गुरुद्वारे पर हमले के विरोध में दिल्ली में पाकिस्तानी हाई कमीशन के सामने विरोध प्रदर्शन हुआ. बीजेपी, कांग्रेस और अकाली दल ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया. जम्मू में भी प्रदर्शन की ख़बर है.

लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दी. इसके अलावा राजनीति, सिनेमा, क्रिकेट समेत तमाम फील्ड के लोगों ने घटना की निंदा की. पाकिस्तानी मीडिया के हवाले से एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 4 जनवरी को ननकाना साहिब में सिखों को नगर कीर्तन की इजाज़त नहीं दी गई. इलाके में तनाव को देखते हुए ऐसा किया गया.


अकाली दल प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने पाकिस्तान के सामने इस मुद्दे को उठाने की अपील की. अकाली दल के नेता मंजिदर एस सिरसा ने कहा, ये बहुत शर्मनाक है और नकली भाईचारे का प्रतीक है. आज हम सब पाकिस्तान दूतावास के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं. हम मांग करते हैं कि जल्द से जल्द हमारे सिख समुदाय की सुरक्षा के लिए कदम उठाए जाएं.

Delhi: Akali Dal and Delhi Sikh Gurdwara Management Committee protests against Pakistan over the mob attack on Nankana Sahib yesterday pic.twitter.com/kAingHQvfh — ANI (@ANI) January 4, 2020

Utterly shameful act by a mob in Pakistan which targeted #NankanaSahib yesterday is a symbol of fake brotherhood. Today we all are protesting outside Pakistan Embassy to request them to take immediate steps to ensure the safety& security of our Sikh community members in Pakistan pic.twitter.com/YCENyYtGo3

— Manjinder S Sirsa (@mssirsa) January 4, 2020

ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमला, सिख श्रद्धालु फंसे, भारत ने कहा- फौरन कार्रवाई करे PAK

भारत ने पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हमले और तोड़फोड़ की कड़ी निंदा की है. साथ ही पाकिस्तान से सिख समुदाय की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द कदम उठाने को कहा है. भारत ने कहा कि ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर यह हमला सिख लड़की जगजीत कौर के अगवा करने और जबरन धर्म परिवर्तन कराने की घटना के बाद किया गया है.

PAK में भीड़ ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर किया पथरावबड़ी संख्या में सिख श्रद्धालु ननकाना साहिब गुरुद्वारे में फंसेभारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर दी कड़ी प्रतिक्रियाजगजीत कौर को वापस करने की मांग पर भीड़ का हमलास्थानीय सिख समुदाय ने प्रशासन से मदद की लगाई गुहार

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर शुक्रवार को बड़ा हमला हुआ है. भीड़ ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव किया. साथ ही ननकाना साहिब गुरुद्वारे का नाम बदलने और सिखों को वहां से भगाने के नारे भी लगाए. इस दौरान काफी संख्या में सिख श्रद्धालु ननकाना साहिब गुरुद्वारे में फंस गए हैं और वहां से जल्द से जल्द निकालने की मांग की है.

हमला करने वाली भीड़ की अगुवाई मोहम्मद हसन का भाई कर रहा था. मोहम्मद हसन ने ही सिख लड़की जगजीत कौर को अगवा किया था और उससे निकाह कर लिया था. मोहम्मद हसन के भाई ने कहा कि सिखों ने जगजीत कौर को वापस भेजने के लिए दवाब डाला, लेकिन यह कभी नहीं होगा, क्योंकि वह अब मुस्लिम बन चुकी है.

#WATCH An angry mob shouts anti-Sikh slogans outside Nankana Sahib Gurdwara in Pakistan's Punjab. Earlier stones were pelted at the Gurdwara led by the family of a boy who had allegedly abducted a Sikh girl Jagjit Kaur, daughter of the Gurdwara's pathi. (Earlier visuals) pic.twitter.com/xyNkhsrhR9

— ANI (@ANI) January 3, 2020
मोहम्मद हसन के भाई ने यह भी दावा किया कि जगजीत कौर मेरे भाई और इस्लाम को भी नहीं छोड़ना चाहती है. उसने कहा कि हम यह सुनिश्चित करेंगे कि ननकाना साहिब में एक भी सिख न रह जाए. साथ ही ननकाना साहिब का नाम बदलकर जल्द ही गुलाम-ए-मुस्तफा रखा जाएगा.


भारत ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर  हमले की कड़ी निंदा की


वहीं, भारत ने पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हमले और तोड़फोड़ की कड़ी निंदा की है. साथ ही पाकिस्तान से सिख समुदाय की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द कदम उठाने को कहा है. विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा, 'हम ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले और तोड़फोड़ की घटना से चिंतित हैं. ननकाना साहिब शहर में अल्पसंख्यक सिख समुदाय के लोगों के खिलाफ हिंसा की गई है. शुक्रवार को ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर यह हमला अगस्त में सिख लड़की जगजीत कौर के अगवा करने और जबरन धर्म परिवर्तन कराने की घटना के बाद किया गया है.’

India strongly condemns vandalism at the holy Nankana Sahib Gurudwara in Pakistan and calls upon Pakistan to take immediate steps to ensure the safety, security and well being of the Sikh community.

— Raveesh Kumar (@MEAIndia) January 3, 2020

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘सिख धर्म के पवित्र तीर्थस्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले की भारत कड़ी निंदा करता है. हम पाकिस्तान सरकार से मामले में जल्द सिख समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने की मांग करते हैं. इसके साथ ही सिख समुदाय के सबसे बड़े तीर्थस्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले में शामिल दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.’

इसके अलावा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मामले में फौरन दखल देने और वहां फंसे सिख श्रद्धालुओं को निकालने की अपील की है. उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के ट्विटर हैंडल को मेंशन करते हुए ट्वीट किया, 'पाकिस्तानी पीएम इमरान खान मामले में फौरन दखल दें और ननकाना साहिब गुरुद्वारा में फंसे श्रद्धालुओं को निकालना सुनिश्चित करें. साथ ही आक्रोशित भीड़ से ऐतिहासिक गुरुद्वारा की सुरक्षा सुनिश्चित करें.'

Appeal to @ImranKhanPTI to immediately intervene to ensure that the devotees stranded in Gurdwara Nankana Sahib are rescued and the historic Gurdwara is saved from the angry mob surrounding 

— Capt.Amarinder Singh (@capt_amarinder) January 3, 2020
ननकाना साहिब के सिख समुदाय ने लगाई मदद की गुहार

इसके अलावा स्थानीय सिख समुदाय के लोग गुरुद्वारे में अरदास करने नहीं जा पाए हैं. आजतक से बातचीत में स्थानीय सिख समुदाय के लोगों ने बताया कि मोहम्मद हसन का परिवार भीड़ का नेतृत्व कर रहा है, क्योंकि हमने उसके परिवार से अगवा की गई जगजीत कौर को वापस करने को कहा है.

स्थानीय सिख समुदाय के लोगों का कहना है कि हमने पंजाब के गवर्नर और अन्य से भी जगजीत कौर को वापस लाने में मदद की गुहार लगाई है. भीड़ ने जगजीत कौर के मसले को लेकर ही गुरुद्वारा और सिख समुदाय को निशाना बनाया है. भीड़ गुरुद्वारे पर पथराव कर रही है. हमने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है.
शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने कहा, हम चार लोगों का एक दल पाकिस्तान भेज रहे हैं, जो वहां के सीनियर अफसरों और गवर्नर से मिलेगा.

Shiromani Gurdwara Parbandhak Committee President Gobind Singh Longowal on mob attacked Nankana Sahib yesterday: We are sending a four member delegation to Pakistan which will meet senior officials and the province’s Governor over this issue. pic.twitter.com/kz4Olhg55Z — ANI (@ANI) January 4, 2020

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तानी उच्चायोग के पास घटना के खिलाफ प्रदर्शन किया. पाकिस्तानी उच्चायोग की ओर जा रहे प्रदर्शनकारियों को चाणक्यपुरी पुलिस स्टेशन के पास रोक दिया गया.

Delhi: Congress workers hold protest against Pakistan over the mob attack on Nankana Sahib in Pakistan, yesterday. 

— ANI (@ANI) January 4, 2020

बीजेपी का कांग्रेस पर हमला- कहां चले गए सिद्धू? बीजेपी की तरफ से मीनाक्षी लेखी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा, अभी तक मैंने कांग्रेस की तरफ से इस मुद्दे पर कुछ नहीं सुना. मुझे नहीं पता सिद्धू पाजी कहां भाग गए? इन सबके बाद भी अगर वो ISI प्रमुख को गले लगाना चाहते हों तो कांग्रेस को इसे देखना चाहिए. ननकाना साहिब का बड़ा महत्व है क्योंकि यह बाबा नानक का मंदिर है और दुनिया भर के सिखों के लिए महत्वपूर्ण है. ऐसे हज़ारों सबूत हैं जब लड़कियों को उठाया गया, उनका जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया और मुस्लिम लड़कों से शादी कराई गई. वहां पुलिस, सरकार और दूसरी एजेंसियां इस प्रक्रिया का हिस्सा हैं.

Meenakshi Lekhi, BJP: Till now I haven’t heard anything from Congress on the issue (attack at Nankana Sahib Gurudwara,Pakistan y’day). I don’t know where Sidhu (Navjot Singh Sidhu) paaji has fled? If even after all this he wants to hug ISI chief,then Congress should look into it. pic.twitter.com/5JYTC3YAq7 — ANI (@ANI) January 4, 2020

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया,

राहुल गांधी पीएम मोदी पर हमला करने में या भारत को नीचा दिखाने में एक मौका नहीं चूकते, उनमें इतनी हिम्मत नहीं कि इमरान खान का नाम लें या पाकिस्तान पर हमला करें. शर्मनाक!

Rahul Gandhi, who does not leave an opportunity to attack PM Modi or denigrate India, does not have the guts to even name Imran Khan or attack Pakistan Government. Shame! 

— Amit Malviya (@amitmalviya) January 4, 2020

पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने लिखा,

जबरन धर्मातरण करने के खिलाफ पहुंचे लोगों पर पथराव और उन्हें जान से मारने की धमकी, ये पाकिस्तान का असली चेहरा है इसीलिए #IndiaSupportsCAA. इसी बीच पाकिस्तान आर्मी की कठपुतली फेक वीडियो ट्वीट कर खुद को मूर्ख साबित कर रहा है.



Death threats and stone pelting to innocent tourists to support forcible conversion of a girl! This is Pakistan and that is why #IndiaSupportsCAA Meanwhile, Pakistan army’s puppet is busy making a fool of himself by tweeting fake videos. #JagjitKaur #NankanaSahib pic.twitter.com/vkNQhvTWIw — Gautam Gambhir (@GautamGambhir) January 4, 2020

राहुल गांधी बोले- कट्टरता खतरनाक

हालांकि भले बीजेपी ये कहे कि राहुल गांधी या कांग्रेस को इस मुद्दे पर कुछ कहते नहीं सुना लेकिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पहले ही घटना की निंदा की थी. उन्होंने ट्वीट किया था,

ननकाना साहिब पर हमला निंदनीय है और एक सुर में इसकी निंदा होनी चाहिए. कट्टरता खतरना है. ये पुराना ज़हर है, जिसकी कोई सीमा नहीं है. प्यार, एक दूसरे के लिए सम्मान और समझदारी ही इसकी काट है.

The attack on Nankana Sahab is reprehensible & must be condemned unequivocally .

Bigotry is a dangerous, age-old poison that knows no borders.

Love + Mutual Respect + Understanding is its only known antidote.

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) January 4, 2020

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा,

मेरे पास इसकी ज़्यादा जानकारी नहीं है. ननकाना साहिब सिखों के लिए पवित्र है और हर धर्म के लोगों में इसके लिए सम्मान है. अगर ऐसी कोई घटना हुई है तो हम सबको इसकी कड़ी निंदा करनी चाहिए.



Ghulam Nabi Azad, Congress on mob attack on #NankanaSahib in Pakistan y’day: I don’t have much information about it. Nankana Sahib is a sacred place for Sikhs and people of all religions have respect for it. If such an incident has occurred, all of us strongly condemn it. pic.twitter.com/z2d6aHQ4iO — ANI (@ANI) January 4, 2020

जावेद अख्तर ने की आलोचना

लेखक-गीतकार जावेद अख्तर ने कहा,

मुस्लिम कट्टरपंथियों ने जो ननकाना साहिब में किया, वो पूरी तरह निंदनीय है. हीनभावना से ग्रसित तीसरे दर्जे के लोग कैसे एक समुदाय के कमजोर लोगों के साथ ऐसा कर सकते हैं.

What the Muslim fundamentalists have done in Nankana saheb is utterly reprehensible and totally condemnable . What kind of third grade sub human and inferior quality people can behave this way with a vulnerable group of another community

— Javed Akhtar (@Javedakhtarjadu) January 3, 2020

क्रिकेटर हरभजन सिंह ने ट्वीट किया,

पता नहीं कुछ लोगों को क्या समस्या है. पता नहीं क्यों वो शांति से नहीं रह सकते. मोहम्मद हसन खुले तौर पर ननकाना साहिब गुरुद्वारे को तबाह कर वहां मस्जिद बनाने की बात कर रहा है. इमरान खान कृपया जरूरी कदम उठाएं.

हरभजन ने आगे लिखा,

ईश्वर एक है. उसे विभाजित मत करो और ना ही एक-दूसरे के प्रति नफरत पैदा करो. पहले इंसान बनो और एक-दूसरे का सम्मान करो. मोहम्मद हसन खुलेआम ननकाना साहिब गुरुद्वारे को नष्ट करने और उस जगह पर मस्जिद बनाने की धमकी दे रहा है. ये देखकर बहुत दु:खी हूं.



God is one..let’s not divide it and create hate among each other’s.. let’s be human first and respect each other’s.. Mohammad Hassan openly threatens to destroy Nankana Sahib Gurdwara and build the mosque in that place @ImranKhanPTI plz do the needful 🙏🙏🙏🙏🙏 

ऑल पार्टीज सिख कोऑर्डिनेशन कमिटी (एपीएससीसी) के अध्यक्ष जगमोहन सिंह रैना ने एक बयान में कहा,

‘पाकिस्तान में ऐसे तत्व हैं जो सिख समेत अल्पसंख्यकों को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं. इसके लिए जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही तय करने के लिए तुरंत जांच हो ताकि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके.’

Post a Comment

0 Comments