header ads

top best 100+ waqt shayari status in hindi

Top Best 100+ Guzra  waqt shayari status in hindi 

Top Best 100+ waqt shayari status in hindi guzra waqt shayari in hindi waqt status hindi hindi shayari waqt nahi time shayari hindi waqt status in hindi font waqt status in english waqt shayari

वक्त सबको मिलता हैं जिन्दगी बदलने के लिए,
पर जिन्दगी दुबारा नही मिलती वक्त बदलने के लिए…

अभी तो थोडा वक्त हैं,
उनको आजमाने दो,
रो-रोकर पुकारेंगे हमें,
हमारा वक्त तो आने दो…

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

रोने से किसी को पाया नहीं जाता,
खोने से किसी को भुलाया नहीं जाता,
वक़्त सबको मिलता है ज़िन्दगी बदलने के लिए
पर ज़िन्दगी नहीं मिलती वक्त बदलने के लिए.

दुनिया पे ऐसा वक़्त पड़ेगा कि एक दिन,

इंसान की तलाश में इंसान जाएगा।

#फ़ना

तुम ने वो वक्त कहां देखा जो गुजरता ही नहीं

दर्द की रात किसे कहते हैं तुम क्या जानो।




सब एक नज़र फेंक के बढ़ जाते हैं आगे

मैं वक़्त के शो-केस में चुप-चाप खड़ा हूँ

#नज़ीर बनारसी



आप के दुश्मन रहें वक़्त-ए-ख़लिश सर्फ़-ए-तपिश

आप क्यों ग़म-ख़्वारी-ए-बीमार-ए-हिजराँ कीजिये



वो ख़लिश जिस से था हंगामा-ए-हस्ती बरपा

वक़्त-ए-बेताबी-ए-ख़ामोश हुई जाती है



ऐ दिल की ख़लिश चल यूँ ही सहीं चलता तो हूँ उन की महफ़िल में

उस वक़्त मुझे चौंका देना जब रँग में महफ़िल आ जाए


सियाह रात नहीं लेती नाम ढलने का,

यही तो वक़्त है सूरज तेरे निकलने का !! -शहरयार



होती है शाम आँख से आँसू रवाँ हुए

ये वक़्त क़ैदियों की रिहाई का वक़्त है



तूने ए वक़्त पलट कर कभी देखा है,

कैसे हैं सब तेरी रफ़्तार के मारे हुए लोग।

#ज़िया



वक़्त की हवाओं में उड़ जाने दो गुलाब जेसे शब्द,

क्या पता किसी दिल के वीराने इनसे महक उठाएं।


top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


ज़िंदगी यूँही बहुत कम है मोहब्बत के लिए

रूठ कर वक़्त गँवाने की ज़रूरत क्या है



वक़्त मुक़र्रर कर लेते हैं चाँद को तकने का

जिस रोज़ मैं देखूं उस रोज़ तुम देखो



बस एक वक़्त का ख़ंजर मेरी तलाश में है,

जो रोज़ भेस बदल कर मेरी तलाश में है

#कृष्ण बिहारी नूर



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी



वक़्त रहता नही कहीं टिककर

इसकी आदत भी आदमी सी है



इस जज़्ब-ए-ग़म के बारे में एक मशविरा तुमसे लेना है

उस वक़्त मुझे क्या लाज़िम है जब तुम पे मेरा दिल आ जाए 

ऐ रहबर-ए-कामिल चलने को तैयार तो हुँ पर याद रहे

उस वक़्त मुझे भटका देना जब सामने मंज़िल आ जाए



यूँ तो पल भर में सुलझ जाती है उलझी ज़ुल्फ़ें

उम्र कट जाती है पर वक़्त के सुलझाने में



कल मिला वक़्त तो ज़ुल्फ़ें तेरी सुलझा लूंगा

आज उलझा हूँ ज़रा वक़्त के सुलझाने में



वक़्त मेरी तबाही पे हँसता रहा

रंग तकदीर क्या क्या बदलती रही…



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

जिन किताबों पे सलीक़े से जमी वक़्त की गर्द

उन किताबों ही में यादों के ख़ज़ाने निकले !! -रज़ा अमरोही



जब दिल पे छा रही हों घटाएँ मलाल की,

उस वक़्त अपने दिल की तरफ़ मुस्कुरा के देख !! -सीमाब अकबराबादी



मानो वक़्त ठहर गया हो जैसे

या ज़िंदगी इसी पल में सिमट आई हो

वो जो लफ्ज़ बह गये कहीं अहसासों से

जैसे सहराओं में रूहानी बयार आई हो ….



ये फैसला तो शायद वक़्त भी न कर सके

सच कौन बोलता है अदाकार कौन है



वक़्त सी फ़ितरत लिए चलता है वो,
ना किसी का होता है ना ठहरता है वो।



तू मेरी जेब में रकखे हुए क़लम पे न जा

मैं वक़्त आने पे चाक़ू निकाल सकता हूँ



मिलके बिछड़ने में ही सब वक़्त काट गया,

दो पल भी ना मिले हाल-ए-दिल सुनाने को।



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

मैं वक़्त की दहलीज़ पे ठहरा हुआ पल हूँ,

क़ायम है मेरी शान कि मैं ताजमहल हूँ !!



उम्मीद वक्त का सबसे बड़ा सहारा है,

गर हौसला है तो हर मौज में किनारा है !!

रात तो वक़्त की पाबंद है ढल जाएगी,

देखना ये है चराग़ों का सफ़र कितना है !!



वक़्त पड़ जाए तो जाँ से भी गुज़र जाएँगे,

हम दिवाने हैं मोहब्बत के अदाकार नहीं !!



हम तो गुम थे किसी की खामोशी में…

आपने याद दिलाया तो वक़्त याद आया ….



इस क़दर प्यार से ऐ जान-ए-जहाँ रक्खा है,

दिल के रुख़सार पे इस वक़्त तेरी याद् ने हाथ…..



मिलने मिलाने में वक़्त जाया ना कर,

आ मेरे दिल में बस जा सदा के लिए।



वक़्त का तकाज़ा है के फिर महफ़िल सजे

फिर उनकी निग़ाह हम पे पड़े, फिर उनकी बात चले।



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

वक़्त और हालात दोनी ही बदल जाते हैं,

मँज़िलें रह जाती हैं, लोग बिछड़ जाते हैं।


वक़्त सी फ़ितरत नहीं मेरी के बुलाने से भी ना आऊँ,

आप आगाज़ करो हम अंजाम तक साथ रहेंगे



बस ज़िन्दगी के उसूलों पे जी रहे हैं,

वक़्त बदल रहा है, हम भी बदल रहे हैं।



वक़्त-ए-सहर जो रात की लौ झिलमिला गयी,

उठ कर तुम्हारी जुल्फ सँवारा करेंगे हम !!-मीना कुमारी



ज़िन्दगी भी बे-अदबी से पेश आने लगी है,

इसको भी वक़्त की नज़ाकत का एहसास हो चला।



जब भी अंजाम-ए-मुहब्बत ने पुकारा ख़ुद को,


वक़्त ने पेश किया हम को मिसालों की तरह !!



उनका जिक्र उनकी तमन्ना उनकी याद,

वक़्त कितना कीमती है आज कल।



वक़्त की अदालत में हर कोई गुनहगार है,

आज मुझे सजा मुकर्रर हुयी कल को तेरा इंतज़ार है।



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते,

वक़्त की शाख़ से लम्हे नहीं तोडा करते।


top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

वक़्त की तिज़ोरी में बंद कर दिए सब लम्हे खुशनुमा,

अपने हालातों को तेरी चाहत से वाकिफ़ नहीं कराते हम।



दाग दामन के हो, दिल के हों के चेहरे के ‘फ़राज़’,

कुछ निशान वक़्त की रफ़्तार से लग जाते हैं।



कोई शाम के वक़्त आएगा लेकिन,
सहर से हम आँखें बिछाए बैठे हैं !!




खत्म हो जाता है ज़खीरा-ए-अलफ़ाज़ उस वक़्त,

जब कोई पूछ लेता है दर्द-ए-इश्क़ के मायनें मुझसे।



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

मेहरबाँ हो के बुला लो मुझे चाहो जिस वक़्त,

मैं गया वक़्त नहीं हूँ कि फिर आ भी न सकूँ !!



बेहतर है के वो रिश्ते टूट जाएँ जो वक़्त की डोर से बंधे हो,

जो बदलते वक़्त के साथ भी ना बदले वही अपना है।




और आहिस्ता कीजिये बातें धड़कने कोई सुन रहा होगा

लफ्ज़ गिरने न पाये होंठो से, वक़्त के हाथ इनको चुन लेंगे




Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

वक़्त की किताब के कुछ पन्ने उलटना चाहता हूँ,

मैं जो कल था आज फिर वही बनना चाहता हूँ।



अपने भी अजनबी हो जाते हैं वक़्त के साथ,

कुछ अजनबी भी अपने हो जाते हैं वक़्त के साथ।



दिनों के बाद अचानक तुम्हारा ध्यान आया,

ख़ुदा का शुक्र कि उस वक़्त बा-वज़ू हम थे



किसके नक़्शे-कदम है तू, ए ज़िन्दगी।

वक़्त सी रफ़्तार भी नहीं, ज़माने से तुझे प्यार भी नहीं।



वक़्त और हालात तो बदल ही जाते हैं मगर,

दर्द तब होता है जब वक़्त के साथ ज़ज़्बात भी बदल जाते है।




दर्द ही हमदर्द बन जाता है उस वक़्त,

जब खुद से ही अपना हाल बयाँ करने से कतराता है कोई।



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

फितरतों और आदतों में बस इतना फर्क है,

आदतें वक़्त के साथ बदलती हैं और फितरतें नीयत के साथ।



कहने को तो सब अपने ही हैं यहाँ,

पर वक़्त आने कोई कोई चेहरा नहीं दिखता।



वक़्त को थाम के बैठे हैं हम भी,

ज़िद्द है के वो मिले तो हम चले।



तूफानों से कह दो कहीं और दिखाए जलवा अपना,

हम तो कब के मर गए, हम पे वक़्त जाया ना करना।



वक़्त की चाल का अंदाज़ा तो नहीं मुझे मगर,

वक़्त के साथ टकराने की कोशिश करूँगा मैं सदा।



वक़्त की देहलीज़ पे खड़ी है सर झुका के किस्मत मेरी,

वक़्त बदले तो शायद इससे चल पड़े किस्मत मेरी।



वक़्त काटना है मुझे बस के वक़्त मेरा ना रहा,

वक़्त बे वक़्त यूँ याद आता रहा किस्सा तेरा।



वक़्त की पाबंदी लगी है अब तो हर वक़्त,

लौट आना इससे पहले के हशर की रात आजाये।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

वक़्त भी फ़रियाद करता है निकलने की,

तेरी महफ़िल में जब समां दिलबरों का बंधता है।



जरा धीरे चल साथिया,

वक़्त लगेगा मुझको तुझसे कदम मिलाने में।



प्यार का पहला ख़त लिखने में वक़्त तो लगता है,

नए परिंदों को उड़ने में वक़्त तो लगता है



एक हाथ दिल पे रख, एक हाथ से थाम ले वक़्त,

जो कर सका तू ये, तो यही जावेदा ज़िन्दगी है।



किसी से उनको क्या मतलब, मगर हाँ वक्त पड़ने पर

ज़माने भर से अपने दोस्ताने ढूँढ़ लेते हैं



वक़्त काट जाने दो यूँ ही पल दो पल में,

एक अरसा गुज़ारा है हमने, 2 पल काटने के लिए



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

वक़्त कोई भी हो मगर,

ज़हर-ए-इश्क़ अपना शिकार ढूंढ ही लेता है।



जो लिबासों को बदलने का शौक़ रखते थे

आखरी वक़्त ना कह पाए क़फ़न ठीक नहीं



हमें ये वक़्त डराता कुछ इस तरह भी है

ठहर न जाए कहीं हादसा गुज़रते हुए



उसे याद करके क्यों वक़्त गंवाता मैं,

हर मेरे हाथ में होता उसे भूल जाना।



दर्दे दिल वक्त का पैगाम भी पहुँचाएगा,

इस कबूतर को जरा प्यार से पालो यारों !! – #दुष्यंतकुमार



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

यूँ वक़्त बेवक़्त याद आने से कुछ ना होगा,

कोई जा के कह दे उसको हमे रुलाना है तो अब खुद ही आ।



मुझे अपना तो बना लिया उसने मगर,

उसको अपना बनाने में मुझे वक़्त लगेगा।



कौन जाने किस घड़ी लिखी उसने किस्मत हमारी,

वक़्त भी रुक गया एक मुकाम के बाद



चढ़ने दो अभी और ज़रा वक़्त का सूरज,

हो जायेंगे छोटे जो अभी साये बड़े हैं !!



खुदा तो इक तरफ, खुद से भी कोसों दूर होता है,

बशर जिस वक्त ताकत के नशे में चूर होता है!!



जा़या होने से बचा ले मुझे माबूद मेरे

ये न हो मुझे वक्त खेल तमाशा करदे



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

वक़्त कभी एक सा रहता नहीं सुन लो साहेब,

खुद भी रो पड़ते है औरो को रुलाने वाले



अभी कुछ वक्त बाकी है अभी उम्मीद कायम है

कहीं से लौट आओ तुम मुह्ब्बत सासं लेती है

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


तुमने वो वक्त कहां देखा जो गुजरते ही नहीं

दर्द की रात किसे कहते हैं तुम क्या जानो!



दर्द बे वक्त होगया रुसवा

एक आंसू था पी लिया होता!



जिंदगी एक हसींन ख्वाब है माना,

हर हसींन ख्वाब को ताबीर नहीं मिलती

टूट के वक्त के साहिल पे बिखर जाते है,

कुछ रिश्ते जिन्हें जंजीर नहीं मिलती



ठहर जा वक़्त ज़रा रुक जा सासें मेरी~~

मेरे महबूब को महसूस कर लूँ कुछ पल के िलये..!!



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

एक ज़ुगनू ने कहा मैं भी तुम्हारे साथ हूँ,

वक़्त की इस धुंध में तुम रोशनी बनकर दिखो.!!



वक़्त के सांथ-सांथ चलता रहे

यही बेहतर है आदमी के लिये.!!



सुना है वक़्त कुछ ख़ुश-रंग लम्हे ले के गुज़रा है

मुझे भी ‘शाद’ कर जाता गुज़रने से ज़रा पहले



जब भी अंजाम-ए-मुहब्बत ने पुकार ख़ुद को

वक़्त ने पेश किया हम को मिसालों की तरह

#सुदर्शन फाकिर



ऐ रहबर-ए-कामिल चलने को तैयार तो हूँ पर याद रहे

उस वक़्त मुझे भटका देना जब सामने मंज़िल आ जाए



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

हर एक राज़ कह दिया,बस एक जवाब ने

हमको सिखाया वक़्त ने,तुमको क़िताब ने.!!



वक़्त से पूछ रहा है कोई

ज़ख्म क्या वाक़ई भर जाते हैं..?



निभी ना वक़्त की हम ख़ानमाँ-खराबों से

हवा उलझती रही टूटती तनाबों से..!!

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


अब उसे देखो तो आँखों पे यकीं आता नहीं

वक़्त उसके जिस्म का सब संगे-मरमर पी गया



ये फ़ैसला तो शायद वक़्त भी न कर सके

सच कौन बोलता है , अदाकार कौन है.!!

Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

किस शै पे यहाँ वक़्त का साया नही होता

इक ख्व़ाब-ए-मोहब्बत है की बूढ़ा नही होता.!!



किस शै पे यहाँ वक़्त का साया नही होता

इक ख्व़ाब-ए-मोहब्बत है की बूढ़ा नही होता.!!



न जाने कितने चरागों को मिल गई शोहरत

एक आफ़ताब के बे-वक़्त डूब जाने से..!!

#इक़बाल अशहर



वक़्त के सांथ-सांथ चलता रहे

यही बेहतर है आदमी के लिये…!!



ना मोहब्बत ना दोस्ती के लिये

वक़्त रुकता नहीं किसी के लिये….



चढ़ने दो अभी और ज़रा वक़्त का सूरज।।

हो जाएँगे छोटे जो अभी साये बड़े हैं..!!



Waqt Shayari in Hindi वक़्त पर शायरी

हर गुज़रते हुए पल का तुझे देना है हिसाब।।

ज़िंदगी का ये सफ़र वक़्त-गुज़ारी तो नहीं..!!



चमक यूँ हि नही आती है, खुद्दारी के चेहरे पर ।।

अना को हमने दो-दो वक़्त का फाका कराया है ..!!

बुरा वक्त तो सबका आता हैं,
कोई बिखर जाता हैं कोई निखर जाता हैं…

वक्त तू कितना भी सता ले हमे लेकिन याद रख,
किसी मोड़ पर तुझे भी बदलने पर मजबूर कर देंगे…

वक़्त बदलने से उतनी तकलीफ नहीं होती,
जितनी किसी अपने के बदल जाने से होती है.

जब आप का नाम जुबान पर आता हैं,
पता नहीं दिल क्यों मुस्कुराता हैं,
तसल्ली होती है मन को कोई तो है अपना,
जो हँसते हुए हर वक्त याद आता हैं…

जिन्दगी में अगर बुरे वक्त नही आते
तो अपनों में छुपे गैर,
और गैरों में छुपे हुए अपने
कभी नजर नही आते…

जो रोऊंगा तो पलकों पे नमी रह जायेगी,
ज़िन्दगी बस नाम की जिन्दगी रह जायेगी,
ये नहीं कि तुम बिन जी न पाउँगा,
हाँ मगर जिन्दगी में हर वक्त एक तेरी कमी रह जायेगी…

वक्त नूर को बेनूर कर देता हैं,
छोटे से जख्म को नासूर कर देता हैं,
कौन चाहता हैं अपनों से दूर होना,
लेकिन वक्त सबको मजबूर कर देता हैं…

तलाश है एक ऐसे शख्स की,
जो आँखों में उस वक़्त दर्द देख सके,
जब सब लोग मुझसे कहते हैं,
क्या बात है हमेशा हँसती रहती हो…

ना तूफ़ान ने दस्तक दी, और ना पत्थर ने चोट दी…
वक्त तकदीर से मिला और मुझे सजा-ए-मोहब्बत दी…

तुझे चाहने वाले कम ना होंगे,
वक़्त के साथ शायद हम ना होंगे,
चाहे किसी को कितना भी प्यार देना,
लेकिन तेरी यादों के हकदार सिर्फ हम ही होंगे.

वक्त का खास होना जरूरी नही…
खास लोगो के लिए वक्त होना जरूरी हैं…

वक्त बदला और बदली कहानी हैं,
संग मेरे हसीं पलों की यादें पुरानी हैं,
न लगाओ मेरे ज़ख्मो पे मरहम,
मेरे पास उनकी बस यही निशानी हैं…



उनका भरोसा मत करों,
जिनका ख्याल वक्त के साथ बदल जाएँ,
भरोसा उनका करो जिनका ख्याल वैसे ही रहे,
जब आपका वक्त बदल जाए.

कभी एक लम्हा ऐसा भी आता हैं,
जिसमे बीता हुआ कल नज़र आता हैं,
बस यादें रह जाती है याद करने के लिए,
और वक्त सब कुछ लेके गुज़र जाता हैं…

वक्त से लड़कर जो अपना नसीब बदल दे,
इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे,
कल क्या होगाकभी ना सोचो,
क्या पता कल वक़्त ख़ुद अपनी तस्वीर बदल दे…

वक्त की रफ़्तार रुक गयी होती,
शरम से आँखें झुक गयी होती,
अगर दर्द जानती शम्मा परवाने का,
तो जलने से पहले ही वो बुझ गयी होती.

एक तूफ़ान आया और सब कुछ उड़ा कर चला गया,
गुजरा हुआ वक्त बहुत कुछ सिखा कर चला गया,
कभी सोचा न था दुनिया में ऐसे लोग भी होते हैं,
जिन्हें चुप कराया वही हमे रुला कर चला गया…

वक्त से ज्यादा ज़िन्दगी में,
कोई भी अपना और पराया नही होता,
अगर वक्त अपना हैं तो सभी अपने होते हैं,
और अगर वक्त ही पराया हो तो
अपने भी पराये हो जाते हैं…

वक्त का पता नही चलता अपनों के साथ,
पर अपनों का पता चलता हैं वक्त के साथ…

वक्त से लड़कर अपना नसीब बदल दे,
इंसान वही जो अपनी तकदीर बदल दे,
कल क्या होगा उसकी कबी ना सोचो,
क्या पता कल वक्त खुद अपनी लकीर बदल दे…

चलकर देखा हैं अकसर, मैंने अपनी चाल से तेज…
पर वक्त और तकदीर से आगे कभी निकल न सका…



वक्त की एक आदत बहुत अच्छी हैं,
जैसा भी हो गुजर जाता हैं…

बुरा वक्त कभी भी बताकर नही आता,
पर सिखाकर और समझकर
बहुत कुछ जाता हैं…

किसी की मजबूरियों पर मत हँसिये,
कोई मजबूरियाँ ख़रीद कर नही लाता,
डरिए वक्त की मार से क्योकि
बुरा वक्त किसी को बताकर नही आता…

दुनिया समझती है बेकार जिसे
वो खोटा सिक्का भी एक दिन चल जायेगा।
मंजिल चुन कर बढ़ चुका हूँ मैं
हौसले बढ़ रहे हैं मेरे, समय भी बदल जायेगा।



2) समय की मार पर वक़्त शायरी


किसी की मजबूरियों पर मत हँसिये,
कोई मजबूरियाँ ख़रीद कर नही लाता,
डरिए समय की मार से क्योकि
बुरा समय किसी को बताकर नही आता।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


 Emotional Samay Shayari


वक्त नूर को बेनूर कर देता हैं,
छोटे से जख्म को नासूर कर देता हैं,
कौन चाहता हैं अपनों से दूर होना,
लेकिन समय सबको मजबूर कर देता हैं।

 Shayari on Samay Ki Tasveer


समय से लड़कर जो अपना नसीब बदल दे,
इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे,
कल क्या होगा कभी ना सोचो,
क्या पता कल समय ख़ुद अपनी तस्वीर बदल दे।



 गुजरा हुआ समय शायरी हिंदी में


एक तूफ़ान आया और सब कुछ उड़ा कर चला गया
गुजरा हुआ समय बहुत कुछ सिखा कर चला गया,
कभी सोचा न था दुनिया में ऐसे लोग भी होते हैं,
जिन्हें चुप कराया वही हमे रुला कर चला गया..।।।



6) वक़्त स्टेटस इन हिंदी फॉर व्हाट्सप्प 


वक्त सबको मिलता हैं जिन्दगी बदलने के लिए,
पर जिन्दगी दुबारा नही मिलती वक्त बदलने के लिए।



2 Line Time Status in Hindi Font


अभी तो थोडा वक्त हैं,
उनको आजमाने दो,
रो-रोकर पुकारेंगे हमें,
हमारा वक्त तो आने दो।



 वक़्त वक़्त की बात शायरी


कभी हाथों में उसका हाथ था,
जिंदगी में उसका प्यारा सा साथ था।
आज बदल गए हैं दिन और बिखरे जज़्बात हैं,
वो भी वक्त की बात थी ये भी वक्त की बात है।



 समय और इंतज़ार शायरी


इंतजार नहीं करता ये समय किसी का
और किसी के लिए रुकता भी नहीं
बस चला जाता हैं
इसे फ़िक्र किसी की नहीं..।।।।।



 ज़िंदगी का बुरा समय कोट्स | Bad Time Quotes in Hindi


कुछ पल का बुरा समय जिंदगी भर याद रह जाता हैं
चाहे कितनी भी खुशिया आ जाये बुरा पल हमेशा याद रहता हैं।



 दो लाइन में समय स्टेटस इन हिंदी फॉर व्हाट्सप्प


समय सब के पास हैं लेकिन हमेशा के लिए नहीं
जो चाहे कर लो आज में ही कल का भरोसा नहीं।



Two Line Samay Status in Hindi Lyrics


समय बदलने से उतनी तकलीफ नहीं होती,
जितनी किसी अपने के बदल जाने से होती है।



 हर समय किसी की याद शायरी


जब आप का नाम जुबान पर आता हैं,
पता नहीं दिल क्यों मुस्कुराता हैं,
तसल्ली होती है मन को कोई तो है अपना
जो हँसते हुए हर समय याद आता हैं..।।


 4 Line Sad Waqt Shayari on Love


जो रोऊंगा तो पलकों पे नमी रह जायेगी,
ज़िन्दगी बस नाम की जिन्दगी रह जायेगी,
ये नहीं कि तुम बिन जी न पाउँगा,
हाँ मगर जिन्दगी में हर समय एक तेरी कमी रह जायेगी।


 Positive Attitude Shayari on Time


हार जाते हैं वो जो समय के आगे
घुटने टेक दिया करते हैं।
जीत उन्हीं की होती है जो बहानों के
लिबासों को उतार फेंक दिया करते हैं।



 Guzra Samay Shayari in Two Line


दिल को उदास करने जब तन्हाई आती है
समय गुजर जाता है बस यादें साथ निभाती हैं।



 Samay Sms in Hindi Wordings


आगे वही बढ़ पायेगा
जो जिंदगी को अपने हिसाब से चलाएगा,
कौन रहेगा मैदान में कौन बाजी हारेगा
किस्मे है कितना दम अब ये समय बताएगा।



सो रही है दुनिया,
बस एक सपनों का तलबगार जाग रहा है।
दिन भी छोटे और रातें भी छोटी लगती हैं
समय जैसे जिंदगी से भी तेज भाग रहा है।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi



 बुरा वक़्त स्टेटस for Broken Heart Lover


ना तूफ़ान ने दस्तक दी, और ना पत्थर ने चोट दी,
वक्त तकदीर से मिला और मुझे सजा-ए-मोहब्बत दी।


 Sad Hindi Love Shayari on Time


तुझे चाहने वाले कम ना होंगे,
समय के साथ शायद हम ना होंगे,
चाहे किसी को कितना भी प्यार देना,
लेकिन तेरी यादों के हकदार सिर्फ हम ही होंगे।


 समय की रफ़्तार शायरी

समय की रफ़्तार रुक गयी होती,
शरम से आँखें झुक गयी होती,
अगर दर्द जानती शम्मा परवाने का,
तो जलने से पहले ही वो बुझ गयी होती।


 Samay Par Shayari in the Hindi Language


बख्शे हम भी न गए बख्शे तुम भी न जाओगे
समय जानता है हर चेहरे को बेनकाब करना।



 उलझा हुआ वक़्त शायरी


कल मिला वक़्त तो ज़ुल्फ़ें तेरी सुलझा लूंगा
आज उलझा हूँ ज़रा वक़्त के सुलझाने में..।।



समय सब का बदलता है 

 समय की बेहतरीन शायरी

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

समय की आंच में पत्थर भी पिघल जाते है,
ख़ुशी के लम्हे गम में बदल जाते है,
कौन करता है याद किसी को यारा,
समय के साथ खयालात भी बदल जाते है।



 Yaad Love Sms in Hindi
समय बदला और बदली कहानी हैं,
संग मेरे हसीं पलों की यादें पुरानी हैं,
न लगाओ मेरे ज़ख्मो पे मरहम,
मेरे पास उनकी बस यही निशानी हैं।


हर संस्कार सिखलाता है
कौन अपना कौन पराया
ये सब वक्त बतलाता है


  
वक्त ऐसे-ऐसे दिन दिखा रहा है
अपने पराए का भेद बता रहा है

समय shayari 
तब सर में किसी का हाथ नहीं होता
जब वक्त हमारे साथ नहीं होता

समय shayari 
गधा भी शान से झूमता है
समय का पहिया जब
उसके पक्ष में घूमता है

समय shayari 
बड़े से बड़ा सूरमा भी हार जाता है
वक्त जिसके खिलाफ हो जाता है

समय shayari
हम पर उन गलतियों के इल्जाम लगे
जिन गलतियों मेरा कोई हाथ ना था
अपनी बेगुनाही साबित भी कैसे करते
जब वक्त ही मेरे साथ ना था



time पर शायरी
हमारी ही करनी, हमें ही दिखाता है
जब समय का चक्र घूम कर आता है

समय shayari
हारी बाजी भी जीत जाता है
समय जिसके साथ होता है

समय shayari 
पूरा कर लेते हैं, अपना हर मकसद
जो बंदे होते हैं वक्त के पाबंद

समय shayari 
कभी गम, कभी खुशी
ये जिंदगी का खेल है
जीवन की पटरी पर दौड़ती
ये वक्त नामक रेल है

फ्रेंडशिप डे पर बेस्ट शायरी 2019 Friendship Day Best Shayari in Hindi

समय shayari 
हमारी ज़िन्दगी की जो किताब है
वक्त के पास मेरे हार कर्मो का हिसाब है

समय shayari 
तुम्हारा किया, तुम्हे ही बतलाता है
समय आइना जरूर दिखलाता है



समय shayari
कर्मो के भी परिणाम बदल सकता है
समय हर सवाल के जवाब बदल देता है

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

समय shayari 
बिना रुके बिना थके, जो चलती है
वक्त की घड़ी, कभी नहीं रुकती है

समय shayari
निरंतर प्रयास का फल जरूर मिलेगा
पर तब, जब समय तुम्हारे साथ होगा

समय shayari
किसी इच्छा के पूरी ना होने की
तुझे क्यों शिकायत है
समय आने पर पूरी हो जाती
बंदे की हर चाहत है

समय shayari 
समय के द्वंद्व से तुम जूझते रहना
अपनी मंजिल पाने के लिए
अपने प्रयास जारी रखना
लगातार कोशिश करते रहना

समय shayari 
बुरे कर्मों का हिसाब हो जाता है
जब बुरा वक्त आता है

time पर शायरी 
बुरा वक्त भले ही रुलाता है
पर सीख पते की दे जाता है

समय shayari 
रिश्ते भी वक्त के साथ बदलते हैं
दुख में कोई हल भी पूछता नहीं
खुशी में आना कोई भूलता नहीं


वक्त की धुंध में छुप जाते हैं ताल्लुक,
बहुत दिनों तक किसी की आँख से ओझल ना रहिये।।

आदमी के शब्द नहीं,
वक्त बोलता है।।

◼ 
शाम का वक्त हो और 'शराब' ना हो,
इंसान का वक्त इतना भी 'खराब' ना हो।।



◼ 
ना हँसना किसी के बुरे वक्त पे दोस्तों,
ये वक्त है जनाब चेहरे याद रखता है।।

◼ 
उलझ गया था तुम्हारे दुपट्टे का कोना मेरी घड़ी से,
वक्त तब से जो रुका है तो अब तक रुका ही पड़ा है।।

◼ 
कभी वक्त निकाल के हमसे बातें करके देखना,
हम भी बहुत जल्दी बातों मे आ जाते है।।

◼ 
उसे शिकायत है कि मुझे बदल दिया वक्त ने,
कभी खुद से भी सवाल करना कि क्या तुम वही हो?

◼ 
वक्त इशारा देता रहा और हम इत्तेफाक समझते रहे,
बस यूँही धोके खाते रहे, और इस्तेमाल होते रहे।।

  Time Hindi Status  

◼ 
वक़्त जब करवटें बदलता है, 
फ़ित्ना-ए-हश्र साथ चलता है।।
अनवर साबरी

◼ 
कुछ इस कदर खोये हैं तेरे ख्यालो में,
कोई वक़्त भी पुछता है तो तेरा नाम बता देते हैं।।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


कौन डूबेगा किसे पार उतरना है 'ज़फ़र' 
फ़ैसला वक़्त के दरिया में उतर कर होगा।।
अहमद ज़फ़र

◼ 
जिन किताबों पे सलीक़े से जमी वक़्त की गर्द,
उन किताबों ही में यादों के ख़ज़ाने निकले।।

◼ 
हर वक़्त दिल को जो सताए ऐसी कमी है तू,
मैं भी ना जानू की इतनी क्यूँ लाज़मी है  तू।।

◼ 
वक़्त बर्बाद करने वालों को, 
वक़्त बर्बाद कर के छोड़ेगा।। 
दिवाकर राही

◼ 
जैसे दो मुल्कों को इक सरहद अलग करती हुई, 
वक़्त ने ख़त ऐसा खींचा मेरे उस के दरमियाँ।। 
मोहसिन ज़ैदी

◼ 
चेहरा ओ नाम एक साथ आज न याद आ सके, 
वक़्त ने किस शबीह को ख़्वाब ओ ख़याल कर दिया।। 
परवीन शाकिर

◼ 
उसकी कदर करने में जरा भी देर मत करना,
जो इस दौर में भी आपको वक्त देता हो।।

◼ 
दिल चाहता है हर वक़्त तेरे सदके उतारता रहूँ,
भला इस कदर भी  हसीन होता है महबूब किसी का।।

◼ 
कैसे कहूँ कि इस दिल के लिए कितने खास हो तुम,
फासले तो कदमों के हैं पर, हर वक्त दिल के पास हो तुम।।


पैसा कमाने के लिए इतना वक़्त खर्च ना करो की, 
पैसा खर्च करने के लिए ज़िन्दगी में वक़्त ही न मिले।।

◼ 
सब कुछ तो है क्या ढूँडती रहती हैं निगाहें, 
क्या बात है मैं वक़्त पे घर क्यूँ नहीं जाता।। 
निदा फ़ाज़ली

◼ 
वक़्त मेरी तबाही पे हँसता रहा,
रंग तकदीर क्या क्या बदलती रही।।

वक्त तो रेत है फिसलता ही जायेगा,
जीवन एक कारवां है चलता चला जायेगा

मिलेंगे कुछ खास इस रिश्ते के दरमियां,
थाम लेना उन्हें वरना कोई लौट के न आयेगा।।

◼ 
सब एक नज़र फेंक के बढ़ जाते हैं आगे,
मैं वक़्त के शो-केस में चुप-चाप खड़ा हूँ।।

◼ 
सियाह रात नहीं लेती नाम ढलने का,
यही तो वक़्त है सूरज तेरे निकलने का।।

◼ 
रोके से कहीं हादसा-ए-वक़्त रुका है, 
शोलों से बचा शहर तो शबनम से जला है।। 
अली अहमद जलीली

◼ 
उस वक़्त मुझे चौंका देना,
जब रँग में महफ़िल आ जाए।।

◼ 
सब आसान हुआ जाता है, 
मुश्किल वक़्त तो अब आया है।। 
शारिक़ कैफ़ी


यूँ तो पल भर में सुलझ जाती है उलझी ज़ुल्फ़ें,
उम्र कट जाती है पर वक़्त के सुलझाने में।।


◼ 
उन का ज़िक्र उन की तमन्ना उन की याद, 
वक़्त कितना क़ीमती है आज कल।। 
शकील बदायुनी

◼ 
वो ख़लिश जिस से था हंगामा-ए-हस्ती बरपा,
वक़्त-ए-बेताबी-ए-ख़ामोश हुई जाती है।।

◼ 
तुम ने वो वक्त कहां देखा जो गुजरता ही नहीं,
दर्द की रात किसे कहते हैं तुम क्या जानो।।

  Waqt Status   
top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

◼ 
अल्लाह तेरे हाथ है अब आबरू-ए-शौक़, 
दम घुट रहा है वक़्त की रफ़्तार देख कर।। 
बिस्मिल अज़ीमाबादी

◼ 
वक्त नहीं लगता दिल को दिल तक आने में,_
पर सदियाँ लग जाती है एक रिश्ता भुलाने में।। 

◼ 
सीख जाओ वक्त पर किसी की चाहत की कदर करना,
कहीं कोई थक ना जाये तुम्हें एहसास दिलाते दिलाते।।

   वक्त शायरी 2 लाइन   

◼ 
वक्त चाहत नही होती तो तेरे करजज़ार होते, 
एक पल के लिए भी हम तलाबदार न होते।।

वक़्त रहते इश्क़ की कदर करें,
ताज़महल दुनिया ने देखा है मुमताज़ ने नहीं।।

◼ 
आप के दुश्मन रहें वक़्त-ए-ख़लिश सर्फ़-ए-तपिश,
आप क्यों ग़म-ख़्वारी-ए-बीमार-ए-हिजराँ कीजिये।।

◼ 
कोई ठहरता नहीं यूँ तो वक़्त के आगे, 
मगर वो ज़ख़्म कि जिस का निशाँ नहीं जाता ।।
फ़र्रुख़ जाफ़री

◼ 
कल मिला वक़्त तो ज़ुल्फ़ें तेरी सुलझा लूंगा,
आज उलझा हूँ ज़रा वक़्त के सुलझाने में।।

◼ 
जब दिल पे छा रही हों घटाएँ मलाल की,
उस वक़्त अपने दिल की तरफ़ मुस्कुरा के देख।। 

◼ 
सदा ऐश दौराँ दिखाता नहीं, 
गया वक़्त फिर हाथ आता नहीं।। 
मीर हसन

◼ 
वक्त भी वक्त पर अपनी,
कदर समझा देता है।।

◼ 
वक़्त  का खास होना ज़रुरी नहीं,
खास लोगों के लिये वक़्त होना ज़रुरी हैं।।

◼ 
ना उसने मुड़ कर देखा ना हमने पलट कर आवाज दी,
अजीब सा वक्त था जिसने दोनो को पत्थर बना दिया।।

◼ 
लोग बहुत अच्छे होते हैं,
अगर हमारा वक्त अच्छा हो तो।।

◼ 
वक्त नहीं है  किसी के पास, 
जब तक न हो कोई मतलब खास।।

◼ 
रात तो वक्त की पाबंद है, ढल जायेगी,
देखना तो ये है दीयों का सफर कितना होगा।।


◼ 
बख्शे हम भी न गए, बख्शे तुम भी न जाओगे,
वक्त जानता है हर चेहरे को बेनकाब करना।।

◼ 
बातों से सीखा है हमने आदमी को पहचानने का फन,
जो हल्के लोग होते है, हर वक्त बातें भारी भारी करते हैं।।

जिन्दगी जख्मो से भरी है वक्त को मरहम बनाना सीख लो,
हारना तो है एक दिन मौत से फिलहाल जिन्दगी जीना सीख लो।।

◼ 
वक्त की कैद में सिमटे जिंदगी के पन्नें,
कुछ रंगहीन और कुछ रंगीन।।

◼ 
माँगना ही छोड़ दिया हमने वक्त किसी से,
क्या पता उनके पास इनकार करने का भी वक्त ना हो।।

एहसान तुम्हारे एकमुश्त, किश्तों में चुकाए हैं हमनें,
कुछ वक्त लगा पर अश्कों के, कुछ सूद चुकाए हैं हमनें।।

◼ 
जैसे ही तू जुदा हुआ वक़्त का वार चल गया,
तारे कही भटक गए चाँद कही निकल गया।।

◼ 
वक्त ढूँढ रहा था मुझे हाथों में खंजर लिए,
मैं छुप गई आईने में आँखों में समंदर लिए।।

जिंदगी ने मेरे मर्ज का एक इलाज बताया था,
वक्त को दवा और ख्वाहिशों का परहेज बताया था।।

◼ 
वक्त, मौसम और लोगों की एक ही फितरत होती है,
कब, कौन और कहाँ बदल जाए कुछ कह नहीं सकते।।

◼ 
जी लो हर लम्हा बीत जाने से पहले,
लौट कर यादे आती है वक्त नही।।

◼ 
नये-नये रिश्तों में नई-नई सी महक साथ हैं,
अब कौन कितनी देर महकेगा, ये वक्त की बात है।।

ना देख पीछे मुड़कर वक्त को वो गुजर गया,
सुनो हथेली में एक बूँद अश्क की कब तक संभालोगे।।

◼ 
राब्ता लाख सही क़ाफ़िला-सालार के साथ, 
हम को चलना है मगर वक़्त की रफ़्तार के साथ।। 
क़तील शिफ़ाई

◼ 
नफरत है इस रविवार से मुझे,
ये दिलाती है और भी तेरी याद खाली वक्त में।।

◼ 
वक्त सारी जिंदगी में दो ही गुजरे हैं कठिन,
इक तेरे आने से पहले, इक तेरे आने के बाद।।

◼ 
कलाई पर घड़ी बांध लेने से वक्त नहीं थमता, 
उसे जीना पड़ता है ,ताकि लम्हा यादो मै कैद हो जाये।।

◼ 
अजनबी शहर में एक दोस्त मिला, वक्त नाम था,
पर जब भी मिला मजबूर मिला।।

◼ 
गुज़रते वक़्त ने क्या क्या न चारा-साज़ी की, 
वगरना ज़ख़्म जो उस ने दिया था कारी था।। 
अख़्तर होशियारपुरी

◼ 
तेरा साथ छूटा है सम्भलने में वक्त तो लगेगा,
हर चीज़ इश्क़ तो नहीं की इक पल में हो जाए।।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

◼ 
वक्त जब भी शिकार करता है,
हर दिशा से वार करता है।।

वक्त शायरी 2 लाइन - Waqt Status

◼ 
बदल जाते हैं वो लोग भी वक्त की तरह,
जिन्हें हम हद से ज्यादा वक़्त देते हैं।।

वक्त का सितम कम था जो तुम भी शामिल हो गई, 
पर जो भी हो तुम दोनो ने मिलकर बहुत रूलाया है मुझे।।



◼ 
दम तोड़ देती है,माँ बाप की ममता उस वक्त,
जब बच्चे कहते है, तुमने हमारे लिए किया ही क्या है।।

◼ 
गया जो हाथ से वो वक़्त फिर नहीं आता, 
कहाँ उमीद कि फिर दिन फिरें हमारे अब।। 
हफ़ीज़ जौनपुरी


◼ 
तू मुझे बनते बिगड़ते हुए अब ग़ौर से देख, 
वक़्त कल चाक पे रहने दे न रहने दे मुझे।। 
ख़ुर्शीद रिज़वी

◼ 
इक दुकान ऐंसी भी है जहाँ तुम मुल्क भी खरीद सकते हो,
वक्त मिले तो आना दिल्ली में, वो भी दुकान दिखायेंगे तुम्हें।।

◼ 
मेरे साथ बैठकर वक्त भी रोया एक दिन,
बोला बन्दा तु ठिक है..मै ही खराब चल रहा हूँ।।

◼ 
हम वक्त गुजारने के लिए दोस्तों को नही रखते,
दोस्तों के साथ रहने के लिए वक्त रखते है।।

◼ 
अभी साथ था अब खिलाफ है,
वक्त का भी आदमी जैसा हाल है।।

◼ 
सब अपनी गरज़ के यार है तू दोस्ती की बात न कर,
वक्त बड़ा बेरहम है ये तुझे भी आईना दिखाएगा।।

◼ 
वो जो कपडे बदलने का शौक रखते थे,
आखिरी वक्त न कह पाये कफ़न ठीक नही।।

◼ 
आज दिल कर रहा है बच्चों की तरह रूठ ही जाऊँ,
फिर सोचा वक्त का तकाजा है मनायेगा कौन।।

दर्द बयां करना है तो शायरी से कीजिए जनाब,
लोगों के पास वक्त कहां, एहसासों को सुनने का।।


रोना तो खूब चाहता था,
पर ज़िम्मेदारीयों ने इतना वक्त भी ना दिया मुझे।।

◼ 
बुरे वक्त में ही सबके असली रंग दिखते हैं,
दिन के उजाले में तो पानी भी चांदी लगता है।।

◼ 
वक्त ने बदल दी, तेरे मेरे रिश्ते की परिभाषा, 
पहले दोस्ती, फिर अपनापन और अब अजनबी सा अहसास।।

◼ 
काश इस गुमराह दिल को ये मालूम होता कि,
मोहब्बत उस वक्त तक ही दिलचस्प होती है
जब तक नहीं होती है।।

  Waqt Status   

◼ 
जिन नोटों की खातिर कुछ लोग बदल गये,
आज वक्त इतना बदल गया की वो नोट ही बदल गये।।

◼ 
हार जाउँगा मुकदमा उस अदालत में, ये मुझे यकीन था,
जहाँ वक्त बन बैठा जज और नसीब मेरा वकील था।।

  Waqt Shayari  

हर वक्त मेरा वहम नहीं जाता,
एक बार और कह दो की तुम मेरे हो।।

◼ 
वक़्त अच्छा भी आएगा 'नासिर' 
ग़म न कर ज़िंदगी पड़ी है अभी।। 
नासिर काज़मी


◼ 
ज़िन्दगी की जरूरतें समझिए वक्त कम है फरमाइश लम्बी हैं,
झूठ-सच, जीत-हार की बातें छोड़िये दास्तान बहुत लम्बी है।।

◼ 
जख्म कुरेदता है फिर मरहम लगाता है,
वक्त बेरहम है पर हकीम सबसे अच्छा है।।



◼ 
बदलती रहती हैं हकीकतों की बारिश वक्त के साथ,
काश उम्मीदों के घरौंदे समझ के पत्थरों से बनातें।।

◼ 
बंद घड़ियाँ भी दिखाऐं वक्त दिन में दो दफ़ा,
चालू घड़ियाँ भी हमारे वक्त से क्यूँ हैं खफ़ा।।

◼ 
वक्त बदलते देर नहीं लगती,
ये सब कुछ भुला भी देता है सिखा भी देता है।।

  Time Hindi Status  

◼ 
खूब करता है, वो मेरे ज़ख्म का इलाज,
कुरेद कर देख लेता है और कहता है वक्त लगेगा।।

◼ 
वक्त की सीढ़ियों पे उम्र तेज चलती है,
जवां रहोगे कोई शौक पाल कर रक्खो।।

◼ 
वक्त एक सा नहीं रहता सुन लो ऐ दोस्त मेरे,
रोना तो उन्हें भी पड़ेगा ही जो औरों को रुलाते हैं।।

◼ 
मैं तो वक्त से हार कर सर झुकाएँ खड़ा था,
सामने खड़े कुछ लोग ख़ुदको बादशाह समझने लगे।।

◼ 
उदास जिन्दगी, उदास वक्त, उदास मौसम,
कितनी चीजो पे इल्जाम लगा है तेरे ना होने से।।

   वक्त शायरी 2 लाइन   
top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

◼ 
प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता,
ना वक्त के साथ ना हालात के साथ।।

◼ 
तो क्या हुआ गर महंगे खिलौने के लिए जेब में पैसे नहीं,
मैं वक्त देता हूँ मेरे बच्चों को जो अमीरों को मयस्सर नहीं।।

◼ 
कौन कहता है कि वक्त बहुत तेज है,
कभी किसी का इंतजार तो करके देखो।।

◼ 
कितना भी समेट लो हाथों से फिसलता ज़रूर है,
ये वक्त है दोस्तों बदलता ज़रूर है।।

◼ 
लोगों पर भरोसा करते वक्त ज़रा सावधान रहिये,
क्युकि फिटकरी और मिश्री एक जैसे ही नजर आते है।।

◼ 
वक्त-वक्त पर खुद में बदलाव जरुरी है,
तभी जाकर जिन्दगी का दौर बदलेगा।।

◼ 
वक्त तो खैर वक्त पे बदलता है,
लेकिन इन्सान बे वक्त बदल जाते है।।

◼ 
फुर्सत निकालकर आओ कभी मेरी महफ़िल में,
लौटते वक्त दिल नहीं पाओगे अपने सीने में।।

◼ 
जहाँ चिराग की जरूरत हुई वहाँ मैं आफताब लेकर आयी हूँ,
कुछ बारिशें वक्त पर न हो सकीं तो अब सैलाब लेकर आयी हूँ।।

◼ 
हसरतें कुछ और, वक्त की इल्तजा कुछ और, 
कौन जी सका है, अपने मुताबिक ज़िन्दगी।।

◼ 
मोहब्बत, परवाह और थोड़ा वक्त,
यही वो दौलत है जो अक्सर हम तुमसे माँगते हैं।।

◼ 
मेरी भी कहानी लिखेगा कोई इक दिन,
वक्त ने मुझे क्या से क्या बना दिया।।

◼ 
चलिए कुछ बचकानी बातें करते है,
हर वक्त की समझदारी तो बोझ है।।

◼ 
लोग कहते है कि वक्त हर ज़ख्म को भर देता है,
पर किताबों पर धूल जमने से कहानी बदल नहीं जाती।।

◼ 
धीरज का दामन पकड़े पढ़ लेंगे खामोशियों को,
अभी उलझनों में उलझे हैं वक्त लगेगा गिर कर संभलने में।।

◼ 
बिछडते वक्त मेरे ऐब गिनाये उसने,
सोचता हूँ जब मिला था तब कौनसा हुनर था मुझमें।।

◼ 
सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं,
देखना हैं जोर कितन बाजू-ए-कातिल में हैं,

वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमां,
हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में हैं।।

◼ 
घर से निकलते वक्त रोज़,
एक मसला बड़ा हो जाता है,

कौन-सा चेहरा पहन कर निकलें,
ये सवाल खड़ा हो जाता है।।

◼ 
वक्त के मरहम पे आखिर फिर भरोसा हो गया है, 
जागता नासूर था एक आज थक के सो गया है,

राहतों की चाँदनी मेरे मुकद्दर में लिखो अब, 
जिंदगी फिर से मिलेगी बीज मैंने बो दिया है।।

◼ 
जबआँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो
जब आँख बंद हो तो यादेँ हिन्दुस्तान की हो

हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन
मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो।।

मेरे साथ बैठ कर वक़्त भी रोया एक दिन बोला बन्दा तू ठीक है मैं ही ख़राब चल रहा हूँ .

2 Line Waqt Shayari in Hindi Fonts
वक्त आता है तो बदल जाती है हर सूरत… चाँद भी तो हमेशा अधूरा नहीं रहता..


Waqt pe shayari in Hindi Fonts
घड़ी की फितरत भी अजीब है, हमेशा टिक-टिक कहती है,मगर, ना खुद टिकती है और ना दूसरों को टिकने देती है !

वक़्त पर शायरी in Hindi Fonts for Friends

कुछ नाकामयाब रिश्तों में पैसे नहीं.. बहुत सारी उम्मीदें और वक्त खर्च हो जाते हैं.

आँखोँ के परदे भी नम हो गए बातोँ के सिलसिले भी कम हो गए. . . पता नही गलती किसकी है वक्त बुरा है या बुरे हम हो गए.

लगता था ज़िन्दगी को बदलने में वक़्त लगेगा. . . पर क्या पता था बदलता हुआ वक़्त ज़िन्दगी बदल देगा.


“मेरी ना रात कटती है… और ना ज़िन्दगी…, वो शख्स मेरे वक़्त को इतना धीमा कर गया…।

जो व्‍यक्ति मेरे बुरे वक्‍त में मेरे साथ है उनके लिए मेरे पास एक ही शब्‍द है, मेरा अच्‍छा वक्‍त सिर्फ तुम्‍हारे लिए होगा!!



वक्त की धुंध में छुप जाते हैं ताल्लुक,
बहुत दिनों तक किसी की आँख से ओझल ना रहिये।।

◼ 
आदमी के शब्द नहीं,
वक्त बोलता है।।

◼ 
शाम का वक्त हो और 'शराब' ना हो,
इंसान का वक्त इतना भी 'खराब' ना हो।।


top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


◼ 
ना हँसना किसी के बुरे वक्त पे दोस्तों,
ये वक्त है जनाब चेहरे याद रखता है।।

◼ 
उलझ गया था तुम्हारे दुपट्टे का कोना मेरी घड़ी से,
वक्त तब से जो रुका है तो अब तक रुका ही पड़ा है।।

◼ 
कभी वक्त निकाल के हमसे बातें करके देखना,
हम भी बहुत जल्दी बातों मे आ जाते है।।

◼ 
उसे शिकायत है कि मुझे बदल दिया वक्त ने,
कभी खुद से भी सवाल करना कि क्या तुम वही हो?

◼ 
वक्त इशारा देता रहा और हम इत्तेफाक समझते रहे,
बस यूँही धोके खाते रहे, और इस्तेमाल होते रहे।।

  Time Hindi Status  

◼ 
वक़्त जब करवटें बदलता है, 
फ़ित्ना-ए-हश्र साथ चलता है।।
अनवर साबरी

◼ 
कुछ इस कदर खोये हैं तेरे ख्यालो में,
कोई वक़्त भी पुछता है तो तेरा नाम बता देते हैं।।


◼ 
कौन डूबेगा किसे पार उतरना है 'ज़फ़र' 
फ़ैसला वक़्त के दरिया में उतर कर होगा।।
अहमद ज़फ़र

◼ 
जिन किताबों पे सलीक़े से जमी वक़्त की गर्द,
उन किताबों ही में यादों के ख़ज़ाने निकले।।

◼ 
हर वक़्त दिल को जो सताए ऐसी कमी है तू,
मैं भी ना जानू की इतनी क्यूँ लाज़मी है  तू।।

◼ 
वक़्त बर्बाद करने वालों को, 
वक़्त बर्बाद कर के छोड़ेगा।। 
दिवाकर राही

◼ 
जैसे दो मुल्कों को इक सरहद अलग करती हुई, 
वक़्त ने ख़त ऐसा खींचा मेरे उस के दरमियाँ।। 
मोहसिन ज़ैदी

◼ 
चेहरा ओ नाम एक साथ आज न याद आ सके, 
वक़्त ने किस शबीह को ख़्वाब ओ ख़याल कर दिया।। 
परवीन शाकिर

◼ 
उसकी कदर करने में जरा भी देर मत करना,
जो इस दौर में भी आपको वक्त देता हो।।

◼ 
दिल चाहता है हर वक़्त तेरे सदके उतारता रहूँ,
भला इस कदर भी  हसीन होता है महबूब किसी का।।

◼ 
कैसे कहूँ कि इस दिल के लिए कितने खास हो तुम,
फासले तो कदमों के हैं पर, हर वक्त दिल के पास हो तुम।।

  Waqt Shayari  

◼ 
पैसा कमाने के लिए इतना वक़्त खर्च ना करो की, 
पैसा खर्च करने के लिए ज़िन्दगी में वक़्त ही न मिले।।

◼ 
सब कुछ तो है क्या ढूँडती रहती हैं निगाहें, 
क्या बात है मैं वक़्त पे घर क्यूँ नहीं जाता।। 
निदा फ़ाज़ली

◼ 
वक़्त मेरी तबाही पे हँसता रहा,
रंग तकदीर क्या क्या बदलती रही।।

◼ 
वक्त तो रेत है फिसलता ही जायेगा,
जीवन एक कारवां है चलता चला जायेगा

मिलेंगे कुछ खास इस रिश्ते के दरमियां,
थाम लेना उन्हें वरना कोई लौट के न आयेगा।।

◼ 
सब एक नज़र फेंक के बढ़ जाते हैं आगे,
मैं वक़्त के शो-केस में चुप-चाप खड़ा हूँ।।

◼ 
सियाह रात नहीं लेती नाम ढलने का,
यही तो वक़्त है सूरज तेरे निकलने का।।

◼ 
रोके से कहीं हादसा-ए-वक़्त रुका है, 
शोलों से बचा शहर तो शबनम से जला है।। 
अली अहमद जलीली

◼ 
उस वक़्त मुझे चौंका देना,
जब रँग में महफ़िल आ जाए।।

◼ 
सब आसान हुआ जाता है, 
मुश्किल वक़्त तो अब आया है।। 
शारिक़ कैफ़ी

◼ 
यूँ तो पल भर में सुलझ जाती है उलझी ज़ुल्फ़ें,
उम्र कट जाती है पर वक़्त के सुलझाने में।।


◼ 
उन का ज़िक्र उन की तमन्ना उन की याद, 
वक़्त कितना क़ीमती है आज कल।। 
शकील बदायुनी

◼ 
वो ख़लिश जिस से था हंगामा-ए-हस्ती बरपा,
वक़्त-ए-बेताबी-ए-ख़ामोश हुई जाती है।।

◼ 
तुम ने वो वक्त कहां देखा जो गुजरता ही नहीं,
दर्द की रात किसे कहते हैं तुम क्या जानो।।

  Waqt Status   

◼ 
अल्लाह तेरे हाथ है अब आबरू-ए-शौक़, 
दम घुट रहा है वक़्त की रफ़्तार देख कर।। 
बिस्मिल अज़ीमाबादी

◼ 
वक्त नहीं लगता दिल को दिल तक आने में,_
पर सदियाँ लग जाती है एक रिश्ता भुलाने में।। 

◼ 
सीख जाओ वक्त पर किसी की चाहत की कदर करना,
कहीं कोई थक ना जाये तुम्हें एहसास दिलाते दिलाते।।

   वक्त शायरी 2 लाइन   

◼ 
वक्त चाहत नही होती तो तेरे करजज़ार होते, 
एक पल के लिए भी हम तलाबदार न होते।।

◼ 
वक़्त रहते इश्क़ की कदर करें,
ताज़महल दुनिया ने देखा है मुमताज़ ने नहीं।।

आप के दुश्मन रहें वक़्त-ए-ख़लिश सर्फ़-ए-तपिश,
आप क्यों ग़म-ख़्वारी-ए-बीमार-ए-हिजराँ कीजिये।।

◼ 
कोई ठहरता नहीं यूँ तो वक़्त के आगे, 
मगर वो ज़ख़्म कि जिस का निशाँ नहीं जाता ।।
फ़र्रुख़ जाफ़री

◼ 
कल मिला वक़्त तो ज़ुल्फ़ें तेरी सुलझा लूंगा,
आज उलझा हूँ ज़रा वक़्त के सुलझाने में।।

◼ 
जब दिल पे छा रही हों घटाएँ मलाल की,
उस वक़्त अपने दिल की तरफ़ मुस्कुरा के देख।। 

◼ 
सदा ऐश दौराँ दिखाता नहीं, 
गया वक़्त फिर हाथ आता नहीं।। 
मीर हसन

◼ 
वक्त भी वक्त पर अपनी,
कदर समझा देता है।।

◼ 
वक़्त  का खास होना ज़रुरी नहीं,
खास लोगों के लिये वक़्त होना ज़रुरी हैं।।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

◼ 
ना उसने मुड़ कर देखा ना हमने पलट कर आवाज दी,
अजीब सा वक्त था जिसने दोनो को पत्थर बना दिया।।

◼ 
लोग बहुत अच्छे होते हैं,
अगर हमारा वक्त अच्छा हो तो।।

◼ 

वक्त नहीं है  किसी के पास, 
जब तक न हो कोई मतलब खास।।

◼ 
रात तो वक्त की पाबंद है, ढल जायेगी,
देखना तो ये है दीयों का सफर कितना होगा।।


◼ 
बख्शे हम भी न गए, बख्शे तुम भी न जाओगे,
वक्त जानता है हर चेहरे को बेनकाब करना।।

◼ 
बातों से सीखा है हमने आदमी को पहचानने का फन,
जो हल्के लोग होते है, हर वक्त बातें भारी भारी करते हैं।।

◼ 
जिन्दगी जख्मो से भरी है वक्त को मरहम बनाना सीख लो,
हारना तो है एक दिन मौत से फिलहाल जिन्दगी जीना सीख लो।।

◼ 
वक्त की कैद में सिमटे जिंदगी के पन्नें,
कुछ रंगहीन और कुछ रंगीन।।

◼ 
माँगना ही छोड़ दिया हमने वक्त किसी से,
क्या पता उनके पास इनकार करने का भी वक्त ना हो।।

◼ 
एहसान तुम्हारे एकमुश्त, किश्तों में चुकाए हैं हमनें,
कुछ वक्त लगा पर अश्कों के, कुछ सूद चुकाए हैं हमनें।।

◼ 
जैसे ही तू जुदा हुआ वक़्त का वार चल गया,
तारे कही भटक गए चाँद कही निकल गया।।

◼ 
वक्त ढूँढ रहा था मुझे हाथों में खंजर लिए,
मैं छुप गई आईने में आँखों में समंदर लिए।।

◼ 
जिंदगी ने मेरे मर्ज का एक इलाज बताया था,
वक्त को दवा और ख्वाहिशों का परहेज बताया था।।

◼ 
वक्त, मौसम और लोगों की एक ही फितरत होती है,
कब, कौन और कहाँ बदल जाए कुछ कह नहीं सकते।।

◼ 
जी लो हर लम्हा बीत जाने से पहले,
लौट कर यादे आती है वक्त नही।।

◼ 
नये-नये रिश्तों में नई-नई सी महक साथ हैं,
अब कौन कितनी देर महकेगा, ये वक्त की बात है।।

◼ 
ना देख पीछे मुड़कर वक्त को वो गुजर गया,
सुनो हथेली में एक बूँद अश्क की कब तक संभालोगे।।

◼ 
राब्ता लाख सही क़ाफ़िला-सालार के साथ, 
हम को चलना है मगर वक़्त की रफ़्तार के साथ।। 
क़तील शिफ़ाई

◼ 
नफरत है इस रविवार से मुझे,
ये दिलाती है और भी तेरी याद खाली वक्त में।।

◼ 
वक्त सारी जिंदगी में दो ही गुजरे हैं कठिन,
इक तेरे आने से पहले, इक तेरे आने के बाद।।

◼ 
कलाई पर घड़ी बांध लेने से वक्त नहीं थमता, 
उसे जीना पड़ता है ,ताकि लम्हा यादो मै कैद हो जाये।।

◼ 
अजनबी शहर में एक दोस्त मिला, वक्त नाम था,
पर जब भी मिला मजबूर मिला।।

◼ 
गुज़रते वक़्त ने क्या क्या न चारा-साज़ी की, 
वगरना ज़ख़्म जो उस ने दिया था कारी था।। 
अख़्तर होशियारपुरी

◼ 
तेरा साथ छूटा है सम्भलने में वक्त तो लगेगा,
हर चीज़ इश्क़ तो नहीं की इक पल में हो जाए।।

◼ 
वक्त जब भी शिकार करता है,
हर दिशा से वार करता है।।

120+ वक्त शायरी 2 लाइन - Waqt Status

◼ 
बदल जाते हैं वो लोग भी वक्त की तरह,
जिन्हें हम हद से ज्यादा वक़्त देते हैं।।

◼ 
वक्त का सितम कम था जो तुम भी शामिल हो गई, 
पर जो भी हो तुम दोनो ने मिलकर बहुत रूलाया है मुझे।।



◼ 
दम तोड़ देती है,माँ बाप की ममता उस वक्त,
जब बच्चे कहते है, तुमने हमारे लिए किया ही क्या है।।

◼ 
गया जो हाथ से वो वक़्त फिर नहीं आता, 
कहाँ उमीद कि फिर दिन फिरें हमारे अब।। 
हफ़ीज़ जौनपुरी


◼ 
तू मुझे बनते बिगड़ते हुए अब ग़ौर से देख, 
वक़्त कल चाक पे रहने दे न रहने दे मुझे।। 
ख़ुर्शीद रिज़वी

◼ 
इक दुकान ऐंसी भी है जहाँ तुम मुल्क भी खरीद सकते हो,
वक्त मिले तो आना दिल्ली में, वो भी दुकान दिखायेंगे तुम्हें।।

◼ 
मेरे साथ बैठकर वक्त भी रोया एक दिन,
बोला बन्दा तु ठिक है..मै ही खराब चल रहा हूँ।।

◼ 
हम वक्त गुजारने के लिए दोस्तों को नही रखते,
दोस्तों के साथ रहने के लिए वक्त रखते है।।

◼ 
अभी साथ था अब खिलाफ है,
वक्त का भी आदमी जैसा हाल है।।

◼ 
सब अपनी गरज़ के यार है तू दोस्ती की बात न कर,
वक्त बड़ा बेरहम है ये तुझे भी आईना दिखाएगा।।

◼ 
वो जो कपडे बदलने का शौक रखते थे,
आखिरी वक्त न कह पाये कफ़न ठीक नही।।

◼ 
आज दिल कर रहा है बच्चों की तरह रूठ ही जाऊँ,
फिर सोचा वक्त का तकाजा है मनायेगा कौन।।

◼ 
दर्द बयां करना है तो शायरी से कीजिए जनाब,
लोगों के पास वक्त कहां, एहसासों को सुनने का।।

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

◼ 
रोना तो खूब चाहता था,
पर ज़िम्मेदारीयों ने इतना वक्त भी ना दिया मुझे।।

◼ 
बुरे वक्त में ही सबके असली रंग दिखते हैं,
दिन के उजाले में तो पानी भी चांदी लगता है।।

◼ 
वक्त ने बदल दी, तेरे मेरे रिश्ते की परिभाषा, 
पहले दोस्ती, फिर अपनापन और अब अजनबी सा अहसास।।

◼ 
काश इस गुमराह दिल को ये मालूम होता कि,
मोहब्बत उस वक्त तक ही दिलचस्प होती है
जब तक नहीं होती है।।

  Waqt Status   

◼ 
जिन नोटों की खातिर कुछ लोग बदल गये,
आज वक्त इतना बदल गया की वो नोट ही बदल गये।।

◼ 
हार जाउँगा मुकदमा उस अदालत में, ये मुझे यकीन था,
जहाँ वक्त बन बैठा जज और नसीब मेरा वकील था।।

  Waqt Shayari  

◼ 
हर वक्त मेरा वहम नहीं जाता,
एक बार और कह दो की तुम मेरे हो।।

◼ 
वक़्त अच्छा भी आएगा 'नासिर' 
ग़म न कर ज़िंदगी पड़ी है अभी।। 
नासिर काज़मी

   Waqt Shayari  in Urdu   

◼ 
ज़िन्दगी की जरूरतें समझिए वक्त कम है फरमाइश लम्बी हैं,
झूठ-सच, जीत-हार की बातें छोड़िये दास्तान बहुत लम्बी है।।

◼ 
जख्म कुरेदता है फिर मरहम लगाता है,
वक्त बेरहम है पर हकीम सबसे अच्छा है।।

◼ 
बदलती रहती हैं हकीकतों की बारिश वक्त के साथ,
काश उम्मीदों के घरौंदे समझ के पत्थरों से बनातें।।

◼ 
बंद घड़ियाँ भी दिखाऐं वक्त दिन में दो दफ़ा,
चालू घड़ियाँ भी हमारे वक्त से क्यूँ हैं खफ़ा।।

◼ 
वक्त बदलते देर नहीं लगती,
ये सब कुछ भुला भी देता है सिखा भी देता है।।

  Time Hindi Status  

◼ 
खूब करता है, वो मेरे ज़ख्म का इलाज,
कुरेद कर देख लेता है और कहता है वक्त लगेगा।।

◼ 
वक्त की सीढ़ियों पे उम्र तेज चलती है,
जवां रहोगे कोई शौक पाल कर रक्खो।।

◼ 
वक्त एक सा नहीं रहता सुन लो ऐ दोस्त मेरे,
रोना तो उन्हें भी पड़ेगा ही जो औरों को रुलाते हैं।।

◼ 
मैं तो वक्त से हार कर सर झुकाएँ खड़ा था,
सामने खड़े कुछ लोग ख़ुदको बादशाह समझने लगे।।

◼ 
उदास जिन्दगी, उदास वक्त, उदास मौसम,
कितनी चीजो पे इल्जाम लगा है तेरे ना होने से।।

   वक्त शायरी 2 लाइन   

◼ 
प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता,
ना वक्त के साथ ना हालात के साथ।।

◼ 
तो क्या हुआ गर महंगे खिलौने के लिए जेब में पैसे नहीं,
मैं वक्त देता हूँ मेरे बच्चों को जो अमीरों को मयस्सर नहीं।।

◼ 
कौन कहता है कि वक्त बहुत तेज है,
कभी किसी का इंतजार तो करके देखो।।

◼ 
कितना भी समेट लो हाथों से फिसलता ज़रूर है,
ये वक्त है दोस्तों बदलता ज़रूर है।।

◼ 
लोगों पर भरोसा करते वक्त ज़रा सावधान रहिये,
क्युकि फिटकरी और मिश्री एक जैसे ही नजर आते है।।

◼ 
वक्त-वक्त पर खुद में बदलाव जरुरी है,
तभी जाकर जिन्दगी का दौर बदलेगा।।

◼ 
वक्त तो खैर वक्त पे बदलता है,
लेकिन इन्सान बे वक्त बदल जाते है।।

◼ 
फुर्सत निकालकर आओ कभी मेरी महफ़िल में,
लौटते वक्त दिल नहीं पाओगे अपने सीने में।।

◼ 
जहाँ चिराग की जरूरत हुई वहाँ मैं आफताब लेकर आयी हूँ,
कुछ बारिशें वक्त पर न हो सकीं तो अब सैलाब लेकर आयी हूँ।।

◼ 
हसरतें कुछ और, वक्त की इल्तजा कुछ और, 
कौन जी सका है, अपने मुताबिक ज़िन्दगी।।

◼ 
मोहब्बत, परवाह और थोड़ा वक्त,
यही वो दौलत है जो अक्सर हम तुमसे माँगते हैं।।

◼ 
मेरी भी कहानी लिखेगा कोई इक दिन,
वक्त ने मुझे क्या से क्या बना दिया।।

◼ 
चलिए कुछ बचकानी बातें करते है,
हर वक्त की समझदारी तो बोझ है।।

◼ 
लोग कहते है कि वक्त हर ज़ख्म को भर देता है,
पर किताबों पर धूल जमने से कहानी बदल नहीं जाती।।

◼ 
धीरज का दामन पकड़े पढ़ लेंगे खामोशियों को,
अभी उलझनों में उलझे हैं वक्त लगेगा गिर कर संभलने में।।

◼ 
बिछडते वक्त मेरे ऐब गिनाये उसने,
सोचता हूँ जब मिला था तब कौनसा हुनर था मुझमें।।

◼ 
सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं,
देखना हैं जोर कितन बाजू-ए-कातिल में हैं,

वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमां,
हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में हैं।।

◼ 
घर से निकलते वक्त रोज़,
एक मसला बड़ा हो जाता है,

कौन-सा चेहरा पहन कर निकलें,
ये सवाल खड़ा हो जाता है।।
top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi

◼ 
वक्त के मरहम पे आखिर फिर भरोसा हो गया है, 
जागता नासूर था एक आज थक के सो गया है,

राहतों की चाँदनी मेरे मुकद्दर में लिखो अब, 
जिंदगी फिर से मिलेगी बीज मैंने बो दिया है।।

जबआँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो
जब आँख बंद हो तो यादेँ हिन्दुस्तान की हो

हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन
मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो।।

बुरा हो वक्त तो सब आजमाने लगते हैं,
बड़ो को छोटे भी आँखे दिखाने लगते हैं,
नये अमीरों के घर भूल कर भी मत जाना
हर के चीज की कीमत बताने लगते हैं.

बुरा वक्त आपको जिन्दगी के
उन सभी सच से सामना करवाता हैं,
जिनका आपको अच्छे समय में
कभी भी ख्याल नहीं आता हैं.

इस उम्मीद से मत फिसलों
कि तुम्हें कोई उठा लेगा,
सोच कर मत डुबो दरिया में
कि तुम्हें कोई बचा लेगा,
ये दुनिया तो एक अड्डा है
तमाशबीनों का दोस्तों
गर देखा तुम्हें मुसीबत में तो
यहाँ हर कोई मजा लेगा.
Waqt Sad Shayari

बुरे वक्त की मार से कोई नहीं बच पाया हैं,
इसलिए दिल के दर्द को होठों के मुस्कान से छिपाया हैं.



मेरे लफ्जों में अभी जान नहीं है,
मेरे बुरे वक्त की बस यहीं एक पहचान हैं.

आँखों के परदे भी नम हो गये हैं,
बातों के सिलसिले भी कम हो गये हैं,
पता नहीं गलती किसकी हैं…
वक्त बुरा है या बुरे हम हो गये हैं.

बुरे वक्त ने भी मेरे साथ एक अच्छा काम किया,
जब मैं टूट कर बिखरने वाला था
तो एक अच्छे इंसान से मिलवा दिया.

बुरे वक्त की सीख को कभी भूलना मत,
कोई तुम्हारा दिल दुखाये तो दुसरे का दिल दुखाना मत.
Bura Waqt Status in Hindi

वक्त तो कभी बुरा होता ही नहीं है,
लेकिन जब वक्त सिखाता है
तो हम बुरा मान जाते हैं.

चिंता इतनी करो कि काम हो जाए,
इतनी नहीं कि जिन्दगी हराम हो जाए.

आपका बुरा वक्त, दूसरों का सच बता देता है,
आपके चाहने वालों के चेहरे से नकाब हटा देता हैं.
Bura Waqt Shayari

वक्त इशारा देता रहा और हम इत्तेफाक समझते रहे,
बस यूँ ही धोखे खाते गये और इस्तेमाल होते रहे.

दुनिया में झूठे लोगो को बड़े हुनर आते है,
सच्चे लोग तो इल्जाम से ही मर जाते हैं.

बुरा वक्त दिखाई नहीं देता हैं,
पर दिखा बहुत कुछ देता हैं.

अच्छा वक्त जब बुरे वक्त में बदल जाता हैं,
तो आपके बारें में लोगों का ख्याल भी बदल जाता हैं.

धोखा खाने वाले को तो
वक्त के गुजरने पर सुकून मिल ही जाता है,
मगर, धोखा देने वाले को
कबी सुकून नहीं मिलता.

बुरे वक्त में दिल को सम्भाल के रखिए,
जज्बातों में ज्यादा उबाल मत रखिए.

बुरा वक्त तजुर्बा तो देता है,
पर मासूमियत छीन लेता हैं.


इंसान की नीयत और नजरें बदल जाती है!!
समय… दूसरे की मदद करने का किसी के पास नहीं है। पर दूसरे के काम में अड़गें डालने का सबके पास है… इतनी जल्‍दी दुनिया की कोई चीज़ नहीं बदलती… जितनी जल्‍दी इंसान की नीयत और नजरें बदल जाती है। 


जिसने कभी बुरा वक्त देखा हो!!
जिसने कभी बुरा वक्त देखा हो, वो किसी के साथ बुरा नहीं कर सकता!


वक्त कहता है… मैं फिर न आऊंगा!!
वक्त कहता है… मैं फिर न आऊंगा क्या पता मैं तुझे हंसाऊँगा या रूलाऊँगा जीना है तो इस पल को ही जी ले, क्योंकि इस पल को मैं अगले पल तक न रोक पाऊँगा! 

मुश्किल वक्त दुनिया का सबसे बड़ा !!
मुश्किल वक्त दुनिया का सबसे बड़ा जादूगर है! जो एक पल में आपके चाहने वालों के चेहरे से नकाब हटा देता है!


 समय के ऊपर पाँच प्रेरणादायक अनमोल वचन!
समय दिखाई नहीं देता, पर बहुत कुछ दिखा जाता है! 

 जब आप गुजरे समय पर अफसोस कर रहे होते हैं, उस समय भी समय गुजर रहा होता है! 


समय बहुत जख्म देता है!
समय बहुत जख्म देता है, इसलिए शायद घड़ी में फूल नहीं कांटे है! 



 मेरे अच्छे वक़्त ने दुनिया को बताया की में कैसा हूँ!!
मेरे अच्छे वक़्त ने दुनिया को बताया की में कैसा हूँ… और मेरे बुरे वक़्त ने मुझे बताया है की दुनिया कैसी है…!! 


Guzarte Waqt Ki Shayari Quotes in Hindi

वक्त कहाँ ठहरता है किसी की खातिर!!
वक्त कहाँ ठहरता है किसी की खातिर, जो वक्त के साथ चला, वही कीमत समझ पाया। 

कहते है कि वक्त सारे घाव भर देता है!!
कहते है कि वक्त सारे घाव भर देता है पर सच तो यही है कि हम दर्द के साथ जीना सीख जाते है…..!! 

 छोटी लेकिन बड़ी बात लोग बहुत अच्‍छे होते हैं…

top best 100+ guzra  waqt shayari status in hindi


आपके पास अपने सपनो को हकीकत देने का समय केवल आज का ही है, कल कौन जाने आपके पास समय हो न हो! 

जिन्दगी के बदल जाने में कभी भी वक्त नहीं लगता कभी-कभी वक्त बदल जाने में पूरी जिंदगीं लग जाती है!! 

 वक्त नहीं बदलता किसी के साथ, पर अपने बदल जाते है वक्त के साथ!! 

वक्त का पता नहीं चलता अपनों के साथ पर अपनों का पता चलता है वक्त के साथ!! 

वक्त जैसा भी हो अच्छा या बुरा बदलता जरूर है इसलिए अच्छे वक्त में कुछ ऐसा गलत मत करो कि बुरे वक्त में लोग आपका साथ छोड़ दें…!!  


वक्त, दोस्त और रिश्ते ये वो चीजें है जो हमें मुफ्त मिलती है पर इनकी कीमत का पता तब चलता है जब ये कहीं खो जाती है!!


उनका विश्वास मत करो जिनकी भावनाऐं वक्त के साथ बदल जाऐं विश्वास उनका करों जिनकी भावनाऐं वैसी ही रहे जब आपका वक्त बदल जाऐं…!! 

Post a Comment

0 Comments