header ads

100 best mousam funny shayari status hindi

100 best mousam funny Shayari Status Hindi

funny Mausam Shayari best Mausam funny Shayari status Hindi suhana Mausam quotes in Hindi Barish status in Hindi Barish funny status rangeen Mausam Shayari


अजब सी हालत है तेरे जाने के बाद,
मुझे भूख लगती नहीं खाना खाने के बाद,
मेरे पास दो ही समोसे थे जो मैंने खा लिए,
एक तेरे आने से पहले, एक तेरे जाने के बाद।


100 best mousam funny shayari status hindi


ए गुलाब अपनी खुशबू को
मेरे दोस्तों पर न्योछावर कर दे,
यह सर्दी के मौसम में
अक्सर नहाया नहीं करते।


देखा है तुम्हारे आगे,
शर्मा के फूलों को मुरझाते,
ए जहाँ को घायल करने वाले
तुम डिओडोरेंट क्यों नहीं लगाते।


आज कुछ शर्माए से लगते हो,
सर्दी के कारण कपकपए से लगते हो,
चेहरा आपका खिलखिलाये सा लगता है,
हफ्ते के बाद नहाए से लगते हो।



खुद का बच्चा रोये तो दिल में दर्द होता है,
किसी और का रोये तो सर में दर्द होता है,
खुद की बीवी रोये तो भी सर में दर्द होता है,
किसी और की रोये तो दिल में दर्द होता है।



जब हम उनके घर गए...
कहने दिल से दिल लगा लो,
उनकी माँ ने खोला दरवाजा,
हम घवरा के बोले..
आंटी बच्चो को पोलियो ड्राप पिलवा लो।


इश्क के चर्चे बहुत हैं दोस्तों,
हुस्न के पर्चे बहुत है यारों,
इश्क करने से पहले जान लेना,
इसमें खर्चे बहुत है दोस्तो।



कुछ बोलूं तो इतराते बहुत हो,
जानेमन तुम मुस्कुराते बहुत हो,
मन करता है तुम्हे दावत पर बुलाऊँ,
लेकिन जानेमन तुम खाते बहुत हो।




जब कोई ज़िन्दगी में बहुत ख़ास बन जाए,
उसके बारे में सोचना ही उसका एहसास बन जाए,
तो मांग लेना खुदा से उसे जिंदगी भर के लिए,
इस से पहले की उसकी माँ किसी और की सास बन जाए।



जब तिरछी नजरों से उन्होंने हमको देखा,
तो हम मदहोश हो गए
जब पता लगा उनकी नज़रें ही तिरछी हैं
तो हम बेहोश हो गए।


नजर न लग जाये आँखों में काजल लगा लो,
हम कहते हैं आँखों में काजल ही नहीं,
हो सके तो...
गले में नीबू मिर्ची चप्पल भी लटका लो,


मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना,
साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना,
मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, 'फराज़',
बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।


मेरी ख़ुशी के लम्हे इस कदर
मुख़्तसर हैं फ़राज़,
अभी मुजरा शुरू ही हुआ था
के छापा पड़ गया।



मासूम सी मुहब्बत का फ़राज़
बस इतना सा फ़साना है..
अम्मी घर से निकलने नहीं देती
और मुझी डेट पर जाना है।

जिसके आने से मेरे जख्म भरा करते थे,
अब वो मौसम मेरे जख्मों को हरा करता है।


मौसम की मिसाल दूँ या नाम लूँ तुम्हारा,
कोई पूछ बैठा है बदलना किसको कहते हैं।



इस गर्मी में रात दिन जब बहे पसीना धार।
आइसक्रीम और कुल्फी की मची रहे भरमार।

रहिमन कूलर राखिये बिन कूलर सब सून।
कूलर बिना ना किसी को, गर्मी में मिले सुकून।

एसी जो देखन मैं गया एसी ना मिलया कोय।
जब घर लौटा आपने गर्मी में ऐसी-तैसी होय।



बारिश का ये मौसम कुछ याद दिलाता है,
किसी के साथ होने का एहसास दिलाता है,
फिजा भी सर्द है यादें भी ताजा हैं,
ये मौसम किसी का प्यार दिल में जगाता है।


दिल की बातें कौन जाने,
मेरे हालात को कौन जाने,
बस बारिश का मौसम है,
पर दिल की ख्वाहिश कौन जाने,
मेरी प्यास का एहसास कौन जाने?

मोहब्बत करते हैं लोग बड़े शोर के साथ,
हमने भी बड़े जोर के साथ,
लेकिन अब करेंगे थोड़ा गौर के साथ,
क्योंकि कल उसे देखा है किसी और के साथ।

100 best mousam funny shayari status hindi


दोस्तो हम उन्हें मुड़ मुड़कर देखते रहे,
और वो हमें मुड़-मुड़ कर देखते रहे,
वो हमें हम उन्हें, वो हमें हम उन्हें,
क्योंकि परीक्षा में न उन्हें कुछ आता था न हमे।



जब दरवाजा खोलने गये तो चेहरे पर हसी थी,
दरवाजा खोला तो आँखों में आँसू दिल में बेबसी थी,
ज्यादा मत सोच पगले,
मेरी ऊँगली दरवाजे में फंसी थी,


कम से कम अपनी जुल्फे तो बाँध लिया करो।
कमबख्त. बेवजह मौसम बदल दिया करते हैं।।



जो आना चाहो हज़ारों रास्ते 
न आना चाहो तो हज़ारों बहाने। 
मिज़ाज-ऐ-बरहम , मुश्किल रास्ता 
बरसती बारिश और ख़राब मौसम।।


लुत्फ़ जो उस के इंतज़ार में है।
वो कहाँ मौसम-ए-बहार में है।। 



तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे।
मैं शाम चुरा लूँ अगर बुरा न लगे।।




यूँ ही शाख से पत्ते गिरा नहीं करते,
बिछड़ के लोग भी ज्यादा जिया नहीं करते।

जो आने वाले हैं मौसम उनका एहतराम करो,
जो दिन गुजर गए उनको गिना नहीं करते।।


आज है वो बहार का मौसम,
फूल तोड़ूँ तो हाथ जाम आए।। 


मौसम को मौसम की बहारों ने लूटा,
हमे कश्ती ने नहीं किनारों ने लूटा।।

  कुछ आपका अंदाज है कुछ मौसम रंगीन है,
तारीफ करूँ या चुप रहूँ, जुर्म दोनो संगीन है।।


मौसम गए सुकून गया ज़िन्दगी गई
दीवानगी की आग में क्या-क्या गया न पूछ।।



धुप सा रंग है और खुद है वो छाँवो जैसा
उसकी पायल में बरसात का मौसम छनके।।


जाता हुआ मौसम लौटकर आया है,
काश वो भी कोशिश करके देखे?


मौसम भी है सुहाना, बारिश भी हो रही है,
बस एक कमी है तेरा मुझसे गले लग जाना।।



कुछ तो मौसम-ए-हवा भी सर्द थी कुछ था तेरा ख्याल भी,
दिल को खुशी के साथ साथ होता रहा मलाल भी।।



बहुत ही सर्द है अब के दयार-ए-शौक़ का मौसम,
चलो गुज़रे दिनों की राख में चिंगारियाँ ढूँडें।।

मौसम की तरह बदलते हैं उस के वादे,
उस पर यह ज़िद की तुम मुझ पे एतबार करो।।



मौसम ने बनाया है निगाहों को शराबी,
जिस फूल को देखूं वोही पैमाना हुआ है।।

100 best mousam funny shayari status hindi



मौसम की मिसाल दूँ या तुम्हारी
कोई पूछ बैठा है बदलना किसको कहते हैं।।

तब्दीली जब आती है मौसम की अदाओं में,
किसी का यूँ बदल जाना बहुत ही याद आता है।।



आज मौसम कितना खुश गंवार हो गया
ख़त्म सभी का इंतज़ार हो गया।
बारिश की बूंदे गिरी इस तरह से
लगा जैसे आसमान को ज़मीन से प्यार हो गया।।




मौसम की पहली बारिश में  तुम मिले इस तरह
जैसे धरती मिल गई हो  आसमान से
जैसे बूँदों ने पहली बार  किया हो ।

आलिंगन  माटी के सीने से और उसी माटी की सौंधी
खुशबू की तरह फैल रहा है  हर तरफ  प्यार तेरा।।



पतझड़ में सिर्फ पत्ते गिरते हैं।
नज़रों  से गिरने का कोई मौसम नहीं होता।।


दिल की बाते कौन जाने, 
मेरे हालात को कौन जाने, 
बस बारिश का मौसम है।

पर दिल की ख्वाहिश कौन जाने, 
मेरी प्यास का एहसास कौन जाने?




तेरे तसव्वुर की धूप ओढ़े खड़ा हूँ छत पर।
मिरे लिए सर्दियों का मौसम ज़रा अलग है।।


रिमझिम बरस पड़े हो तुम तो फुहार बन के
आया है अब तो मौसम कैसा खुमार बन के
मेरे दिल में यूँहीं रहना तुम प्यार प्यार बन के।।

कुछ तो तेरे मौसम ही मुझे रास कम आये।
और कुछ तेरी मिटटी में बगावत भी बहुत थी।।


उस को भला कोई कैसे गुलाब दे।
जिसके आने से बारिश का मौसम और गुलाबी हो जाता है।।


इतनी बारिश और रोमांटिक मौसम ना कर ओ राम जी,
जरुरी नहीं की  सब की सैटिंग हो।।


शहर देखकर ही अब हवा चला करती है।
अब इंसान की तरह होशियार मौसम होते हैं।।

.


छु कर निकलती है जो हवाएँ तेरे चेहरे को,
सारे शहर का मौसम गुलाबी हो जाता है।।



आज कुछ और नहीं बस इतना सुनो,
मौसम हसीन है लेकिन तुम जैसा नहीं।।


अपने किरदार को मौसम से बचाए रखना।
लौट कर फूलों में वापस नहीं आती खुशबू।।



ये बारिश का मौसम, और तुम्हारी याद।
चलो फिर मिलते है ,एक कप चाय के साथ।। 


बरसता भीगता मौसम धुआं धुआं होगा।
पिघलती शम्मों पे दिल का मेरे गुमां होगा।।


जब इंसान की फितरत बदल रही हो तो 
ये जरुरी नहीं की इंसान बदल गया,
हो सकता है बाहर का मौसम बदल रहा हो।।


कब तलक दिल में जगह दोगे हवा के ख़ौफ़ को।
बादबाँ खोलो कि मौसम का इशारा हो चुका।।



हमें इस सर्द मौसम में तेरी यादें सताती हैं।
तुम्हें एहसास होने तक दिसंबर बीत जायेगा।।

100 best mousam funny shayari status hindi


प्यार में एक ही मौसम है बहारों का मौसम।
लोग मौसम की तरह फिर कैसे बदल जाते हैं।।



जब से तेरे ख़याल का, मौसम हुआ है दोस्त
दुनिया की धूप-छाँव से आगे निकल गये।।


मंजर भी बेनूर थे
और फिजायें भी बेरंग थी,
तुम्हारी याद आयी और
मौसम सुहाना हो गया।।



जिसके आने से मेरे ज़ख्म भरा करते थे।
अब वो मौसम मेरे ज़ख्मो को हरा करते हैं।।


वाह मौसम तेरी वफा पे आज दिल खुश हो गया,,
याद-ए-यार मुझे आयी और बरस तू पड़ा।।


प्यार करने का मौसम नहीं आता हैं,
पर जब तुम सामने आते हो, तो हर
मौसम मजेदार बन जाता हैं।।




सर्दी में दिन सर्द मिला। 
हर मौसम बेदर्द मिला।। 
मोहम्मद अल्वी


दर्द  दर्द में कोई मौसम प्यारा नही होता, 
दिल हो प्यासा तो पानी से गुजारा नही होता,  
कोई देखे तो हमारी बेबसी, 
हम सभी के हो जाते हैं , 
पर कोई हमारा नही होता।।


कुछ दर्द कुछ नमी कुछ बातें जुदाई की।
गुजर गया ख्यालों से तेरी याद का मौसम।।


एक पुराना मौसम लौटा याद भरी पुरबाई भी।
ऐसा तो कम ही होता है वो भी हो तन्हाई भी।।

100 best mousam funny shayari status hindi


मौसम-ए-गुल में तो आ जाती है काँटों पे बहार।
बात तो जब है ख़िजाँ में गुल-ए-तर पैदा कर।।



कोई मौसम हो दिल-गुलिस्ताँ में।
आरज़ू के गुलाब ताज़ा हैं।। 


किसने जाना है बदलते हुए मौसम का मिज़ाज।
उसको चाहो तो समझ पाओगे फ़ितरत उसकी।। 


मौसम-ए-बहार है अम्बरीं ख़ुमार है।
किस का इंतिज़ार है गेसुओं को खोलिए।।


सर्दी के मौसम का मजा अलग सा है,
रात मे रजाई का मजा अलग सा है।

धुंध ने आकर छिपा लिया सितारों को,
आपकी जुदाई का ऐहसास अब अलग सा है।।



उदास ज़िन्दगी, उदास वक्त, उदास मौसम।
कितनी चीज़ों पे इल्ज़ाम लग जाता है तेरे बात न करने से।।


साहिल. रेत. समंदर लहरें बस्ती .जंगल सहरा दरिया 
खुशबू मौसम फूल दरीचे बादल सूरज चाँद सितारे 
आज ये सब कुछ नाम तुम्हारे।।


मौसम ए इश्क़ है ये जरा खुश्क हो जायेगा
ना उलझिये हमसे जनाब वर्ना  इश्क हो जायेगा।।



अच्छा सुनो तुम अपना जरा ध्यान रखना,
अभी मौसम बीमारी का भी हैं और इश्क का भी।।




शायद कायनात भी है गुलाम तुम्हारी।
तभी तो हर बदलता मौसम लिए आता है खुशबू तुम्हारी।।



टपक पड़ते हैँ आँसू जब किसी की याद आती है।
ये वो बरसात है जिसका कोई मौसम नहीँ होता।।


जुदाई की रुतों में सूरतें धुंधलाने लगती हैं, 
सो ऐसे मौसमों में आइना देखा नहीं करते।।
हसन अब्बास रज़ा


ये  बारिश  ये  हसीन मौसम  और ये  मदमस्त हवाये, 
लगता है आज  मोहब्बत प्यार की बाहो में हैं।।


शहर में बिखरी हुई हैं, ज़ख्म-ए-दिल की खुशबुएँ,
ऐसा लगता है के दीवानों का मौसम आ गया।।


बेवफाई का मौसम भी  अब यहाँ आने लगा है।
वो फिर से किसी और को देख कर मुस्कुराने लगा है।।

वही पर्दा, वही खिड़की, वही मौसम, वही आहट।
शरारत है, शरारत है, शरारत है, शरारत है।


सर्द मौसम में छनी हुयी धुप सी लगते हो।
कोई बादल हरे मौसम का फ़िर ऐलान करता है।।


जो अपनी औलाद से बढ़ कर,समझे पौधों-पेड़ों को।
आने वाले मौसम में इस बाग़ को ऐसा माली दे।।


उदास छोड़ गया वो हर एक मौसम को।
ग़ुलाब खिलते थे कल जिसके मुस्कुराने से।।


सर्द मौसम में बहुत याद आते हैं।
धुँध में लिपटे हुए वादे तेरे।।


इससे पहले कहीं रूठ न जाएँ मौसम अपने।
धड़कते हुए अरमानों एक सुरमई शाम दे दें।।




मौसम अच्छा हो  गया है,
लगता है  मेरी  जिंदगी में
तुम आने  वाले हो।।

   
काश तुझे सर्दी के मौसम मे लगे मोहब्बत की ठंड।
और तु तड़प के मांगे मुझे कंबल की तरह।।


कभी सावन के शोर ने मदहोश किया था मौसम।
आज पतझड़ में हर दरख़्त खामोश खड़ा है।।


मौसम इस कदर खुमारी मे है।
मेरा शहर भी शिमला होने की तैयारी में है।।

बालकनी से बाहर आकर कर देखो ये जानेजाना। 
मौसम तुम से मेरे दिल की बात कहने आया है।।

100 best mousam funny shayari status hindi


अभी तो खुश्क़ है मौसम, बारिश हो तो सोचेंगे।
हमें अपने अरमानों को,किस मिट्टी में बोना है।।


किसके नक्श-ए-पा पड़े पलकें वजू करने लगीं,
मौसमो का रंग बदला रुत सुहानी हो गयी।।




रंग पैराहन का खुश्बू जुल्फ लहराने का नाम।
मौसम-ए-गुल है तुम्हारे बाम पर आने का नाम।।


अपनी सी लगती है हर नमी अब तो।
आँखों ने खुश्क मौसम कभी देखे ही नहीं।।


बदला जो रंग उसने हैरत हुयी मुझे।
मौसम को भी मात दे गयी फ़ितरत जनाब की।।


हमें क्या पता था, ये मौसम यूँ रो पड़ेगा।
हमने तो आसमां को बस अपनी दास्ताँ सुनाई है।।



क्यों आग सी लगा के गुमसुम है चाँदनी,
सोने भी नहीं देता मौसम का ये इशारा।।




वाह मौसम आज तेरी अदा पर 
दिल को प्यार आ गया, वो पास आई,
और तू बारिश बनकर बरस गया।।


ये बारिश ये हसीन मौसम और ये मदमस्त हवाये।
लगता है आज मोहब्बत प्यार की बाहो में हैं।।


आमद से पहले तेरी सजाते कहाँ से फूल।
मौसम बहार का तो तेरे साथ आया है।। 

दूर तक छाए थे बादल और कहीं साया न था 
इस तरह बरसात का मौसम कभी आया न था।। 



उसे छुआ तो दिसम्बर में प्यास लगने लगी। 
कि उसके ज़िस्म का मौसम तो जून जैसा है।।


बलखाने दे अपनी जुल्फों को हवाओं में।
जूड़े बांधकर तू मौसम को परेशां न कर।।


कहानी बस इतनी सी थी तेरी मेरी मोहब्बत की।
मौसम की तरह तुम बदल गए 
और फसल की तरह हम बरबाद हो गए।।


ये दिसम्बर तो बातोँ का मौसम था।
दुआ करो कि जनवरी बांहोँ का मौसम हो।।


खुद भी रोता है, मुझे भी रुला के जाता है।
ये बारिश का मौसम, उसकी याद दिला के जाता है।।

100 best mousam funny shayari status hindi


धूप भी खुल के कुछ नहीं कहती ,
रात ढलती नहीं थम जाती है।
सर्द मौसम की एक दिक्कत है ,
याद तक जम के बैठ जाती है।।



क्यूँ किसी की यादों को सोच कर रोया जाए,
क्यूँ किसी के ख्यालों में यूँ खोया जाए।
बाहर मौसम बहुत ख़राब हैं,
क्यूँ न रजाई तानकर सोया जाए।।


लो बदल गया मौसम।
हूबहू तुम्हारी तरह।।



हम कि रूठी हुई रुत को भी मना लेते थे।
हम ने देखा ही न था मौसम-ए-हिज्राँ जानाँ।। 


इनपे कभी मौसम का असर क्यों नहीं होता।
रद्द क्यों तेरी यादों की उड़ाने नहीं होती।।


जब जब आता है यह बरसात का मौसम, 
तेरी याद होती है साथ हरदम।
इस मौसम में नहीं करेंगे याद तुझे यह सोचा है हमने, 
पर फिर सोचा की बारिश को कैसे रोक पाएंगे हम।।


कहीं फिसल ना जाओ ज़रा संभल के रहना।
मौसम बारिश का भी है और मुहब्बत का भी।।



ये सुहाना मौसम, ये हल्की हवायें. फरवरी आ रही हैं।
बोलो, पट रहे हो तुम या हम किसी और को पटाये।।


सर्द फ़िजा.खुशनुमा मौसम और ओस की हल्की बूँदे।
खामखाँ बढ़ा दिया बेचैनियों को जनवरी की लहर ने।।


बरसता, भीगता मौसम है कमज़ोरी मेरी लेकिन,
मैं ये रिमझिम, घटा, बादल तुम्हारे नाम करता हूँ।। 

हर एक बदलती हुई रुत में याद आता है

वो शक्स स जो मेरा नामों निशां भूल गया।




बरसता भीगता मौसम धुआं धुआं होगा..

पिघलती शम्मों पे दिल का मेरे गुमां होगा



ये शाख़-ए-गुल है आईना-ए-नुमू से आप वाकिफ़ है

समझती है कि मौसम के सितम होते ही रहते हैं



धुप सा रंग है और खुद है वो छाँवो जैसा
उसकी पायल में बरसात का मौसम छनके



वह मुझ को सौंप गया फुरकतैं दिसंबर में
दरखते जां पे वही सर्दियों का मौसम है।



हमें इस सर्द मौसम में तेरी यादें सताती हैं
तुम्हें एहसास होने तक दिसंबर बीत जायेगा।



बहुत ही सर्द है अब के दयार-ए-शौक़ का मौसम,
चलो गुज़रे दिनों की राख में चिंगारियाँ ढूँडें !! 



तेरे तसव्वुर की धूप ओढ़े खड़ा हूँ छत पर
मिरे लिए सर्दियों का मौसम ज़रा अलग है !!-साबिर



आमद से पहले तेरी सजाते कहाँ से फूल,
मौसम बहार का तो तेरे साथ आया है !!


बरसता भीगता मौसम है कमज़ोरी मेरी लेकिन,
मैं ये सावन, घटा, बादल तुम्हारे नाम करता हूँ…




ज़वाल-ए-मौसम-ए-ख़ुश-रंग का गिला ‘आसिम’
ज़मीन से तो नहीं आसमाँ से होता है


उरूज पर है चमन में बहार का मौसम
सफ़र शुरू ख़िज़ाँ का यहाँ से होता है


कब तलक दिल में जगह दोगे हवा के ख़ौफ़ को,
बादबाँ खोलो कि मौसम का इशारा हो चुका !! – शहज़ाद अहमद



किसके नक्श-ए-पा पड़े पलकें वजू करने लगीं,
मौसमो का रंग बदला रुत सुहानी हो गयी


100 best mousam funny shayari status hindi


वही पर्दा,वही खिड़की,वही मौसम,वही आहट
शरारत है,शरारत है,शरारत है,शरारत है


क्यों आग सी लगा के गुमसुम है चाँदनी,
सोने भी नहीं देता मौसम का ये इशारा !!



सर्द मौसम में छनी हुयी धुप सी लगते हो
कोई बादल हरे मौसम का फ़िर ऐलान करता है,


अबके बरसात की रुत और भी भड़कीली है,
जिस्म से आग निकलती है, क़बा गीली है !!




हम कि रूठी हुई रुत को भी मना लेते थे,
हम ने देखा ही न था मौसम-ए-हिज्राँ जानाँ !!


लो बदल गया मौसम
हूबहू तुम्हारी तरह!


बदला जो रंग उसने हैरत हुयी मुझे,
मौसम को भी मात दे गयी फ़ितरत जनाब की।

~अज्ञात

 
मौसम-ए-बहार है अम्बरीं ख़ुमार है
किस का इंतिज़ार है गेसुओं को खोलिए !! -अदम



रंग पैराहन का खुश्बू जुल्फ लहराने का नाम,

मौसम-ए-गुल है तुम्हारे बाम पर आने का नाम !!-फ़ैज़




हमारे ही ख़याल लिख दिए कुछ …

हम तो आज भी रूठी हुई रुत को माना लेते हैं….



Mausam shayari in Hindi

किसने जाना है बदलते हुए मौसम का मिज़ाज

उसको चाहो तो समझ पाओगे फ़ितरत उसकी !!



हम तो रूठी हुयी रुत को भी मना लेते थे

तुम ने देखा ही नही मौसम ऐ हिज्राँ जानाँ !!



मौसम सर्द ही सही दिल का आहों से मगर,

तेरे ख्यालों से आज भी पिघल जाते हैं हम।



लुत्फ़ जो उस के इंतज़ार में है

वो कहाँ मौसम-ए-बहार में है !!



ये हसीं मौसम, ये नज़ारे, ये बारिश, ये हवाएँ,
लगता है मोहब्बत ने फिर मेरा साथ दिया है…



Mausam shayari in Hindi

अपनी सी लगती है हर नमी अब तो,

आँखों ने खुश्क मौसम कभी देखे ही नहीं।



कोई मौसम हो दिल-गुलिस्ताँ में,

आरज़ू के गुलाब ताज़ा हैं …



मौसम सा मिज़ाज़ है मेरा,

कभी बरसता सावन तो कभी सर्द हवा।



आज है वो बहार का मौसम,

फूल तोड़ूँ तो हाथ जाम आए !!



मेरी दीवानगी क्यों मुन्तज़िर है रुत बदलने की,

कोई मौसम भी होता है जुनूँ को आज़माने का !! –आलम खुर्शीद


Mausam shayari in Hindi

मुझको बे-रंग ही कर दें न कहीं रंग इतने,
सब्ज़ मौसम है, हवा सुर्ख़, फ़ज़ा नीली है!!


चम्पई सुब्हें पीली दो-पहरें सुरमई शामें
दिन ढलने से पहले कितने रंग बदलता है



मौसम ने बनाया है निगाहों को शराबी,
जिस फूल को देखूं वोही पैमाना हुआ है!!



एक पुराना मौसम लौटा याद भरी पुरवाई भी
ऐसा तो कम ही होता है वो भी हों तनहाई भी

100 best mousam funny shayari status hindi




बरसता, भीगता मौसम है कमज़ोरी मेरी लेकिन,

मैं ये रिमझिम, घटा, बादल तुम्हारे नाम करता हूँ …



Mausam shayari in Hindi

तुम्हारे शहर का मौसम बङा सुहाना है

मैं एक शाम चुरा लूं अगर बुरा न लगे!



रातें महकी, सांसें दहकी, नज़रे बहकी, रुत लहकी

स्वप्न सलोना, प्रेम खिलौना, फूल बिछौना,वह पहलू



ऐ इश्क़ सुन मुझे भी चाहिए मुआवजा
इस बे-मौसम बारिश का,

तेरे दर्द की बारिशों से बहुत नुकसान हुआ है

मेरे अरमानों की फसल का.!!


जो अपनी औलाद से बढ़ कर,समझे पौधों-पेड़ों को
आने वाले मौसम में इस बाग़ को ऐसा माली दे.!!



मौसम-ए-गुल में तो आ जाती है काँटों पे बहार
बात तो जब है ख़िजाँ में गुल-ए-तर पैदा कर



अभी तो खुश्क़ है मौसम,बारिश हो तो सोचेंगे
हमें अपने अरमानों को,किस मिट्टी में बोना है.!!



कहाँ धुँए की परस्तिश में जा फंसे यारो

यही तो रुत थी ख़यालों में आग बोने की.!!



नईम हिजरतों की रुत ने,ज़ोर भी दिया मगर

न बाग़ से हवा गई,न झील से कँवल गया.!!

मौसम की मिसाल दूँ या तुम्हारी

कोई पूछ बैठा है बदलना किसको कहते हैं.!!


जब से तेरे ख़याल का, मौसम हुआ है “दोस्त”
दुनिया की धूप-छाँव से आगे निकल गये.!!


Mausam shayari in Hindi

इनपे कभी मौसम का असर क्यों नहीं होता।।
रद्द क्यों तेरी यादों की उड़ाने नहीं होती..!!


उदास छोड़ गया वो हर एक मौसम को।।

ग़ुलाब खिलते थे कल जिसके मुस्कुराने से..!!



जब से तेरे ख़याल का, मौसम हुआ है दोस्त।।
दुनिया की धूप-छांव से, आगे निकल गये ..!!

इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है सपनो में यार आए तो उसे मुलाकात समझ लेते है रूठता तो आसमान भी है अपनी ज़मीन के लिए यह तो लोग ही उसे बरसात समझ लेते है

प्यास बुझती नहीं कितनी जल्दी यह मुलाक़ात गुज़र जाती है प्यास बुझती नहीं बरसात गुज़र जाती है अपनी यादों से दिल दुखाया न करें नींद आती नहीं और रात गुज़र जाती है

बरसात शायरी हिंदी
परदेस में क्या महसूस करें,बारिश का मज़ा मिट्टी की महक़ जब गाँव में अपने होती है,बरसात से खुशबू आती है.!!

बरसात की भीगी रातों में फिर उनकी याद आई कुछ अपने जमाना याद आया कुछ उनकी जवानी याद आई फिर यादों के दौर चले फिर एक बेवफा की कहानी याद आई


ग़म की बारिश ने भी तेरे नक़्श को धोया नहीं तू ने मुझ को खो दिया पर मैं ने तुझे खोया नहीं.!!


Post a Comment

0 Comments