header ads

Hindi very heart touching shayari best shayari hindi

Hindi Shayari very heart touching 

एक चाहत होती है, जनाब अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि.. ऊपर अकेले ही जाना है।

attitude shayari for girls 2 line Shayari on life very sad line in Hindi very heart touching shayari best shayari hindi 2 lines attitude status

बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें.. मेरा क्या है..
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है! ?

hindi shayari


कोई खुशियों की चाह में रोया,
कोई दुखों की पनाह में रोया,
अजीब सिलसिला हैं ये “ज़िंदगी” का..
कोई भरोसे के लिए रोया,
कोई भरोसा कर के रोया!! ??

क्या वजह होगी, अब फिर यहां लौट आने की..
इन नुक्कड़ों पे रुकने की, इन गलियों के चक्कर लगाने की..
अब तो ना तू मेरी है, ना ही अब ये शहर मेरा..
ना इच्छा अब कुछ सुनने की और ना ही कुछ बताने की..!! ???

कदर कर लो उनकी जो तुमसे,
बिना मतलब की चाहत करते है,
दुनिया मे ख्याल रखने वाले कम,
और तकलीफ देने वाले ज्यादा होते है! ✍ ?

किसी के पास सब कुछ हो,
तो जलती है दुनियाँ,
किसी के पास कुछ ना हो,
तो हँसती है दुनियाँ,
लेकिन मेरे पास तो मेरे माँ-बाप है,
जिसके लिए तरसती है दुनियाँ!


सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनो पर भी शक करना
मेरी फितरत में तो गैरों पर भी भरोसा करना था! 

शायद मैं इसीलिए पीछे हूं,
मुझे होशियारी नही आती,
बेशक लोग ना समझे मेरी वफादारी,
मगर यारो मुझे गद्दारी नही आती।
दुआएँ जमा करने में लग जाओ साहब,
खबर पक्की है दौलत और शोहरत साथ नहीं जायेंगे। ??

वक़्त तो अब लफ़्ज़ों में दिया जाता है,
रूबरू तो महज दिखावा किया जाता है। ?
hindi shayari


सिखा न सकी जो उम्र भर तमाम किताबे मुझे..
करीब से कुछ चेहरे पढे और न जाने कितने.. सबक सीख लिए। ?

एक चाहत होती है, जनाब अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि.. ऊपर अकेले ही जाना है।

कुछ लोग कहते हैं कि बदल गये है हम,
उनको ये नही पता कि अब सभंल गये है हम।

चुप रहना ही बेहतर है, जमाने के हिसाब से
धोखा खा जाते है, अक्सर ज्यादा बोलने वाले! ?

इस जमाने में वफ़ा की तलाश ना कर मेरे दोस्त,
वो वक़्त और था जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते। ?
दुआएँ जमा करने में लग जाओ साहब,
खबर पक्की है दौलत और शोहरत साथ नहीं जायेंगे। ??


वक़्त तो अब लफ़्ज़ों में दिया जाता है,
रूबरू तो महज दिखावा किया जाता है। ?


सिखा न सकी जो उम्र भर तमाम किताबे मुझे..
करीब से कुछ चेहरे पढे और न जाने कितने.. सबक सीख लिए। ?

एक चाहत होती है, जनाब अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि.. ऊपर अकेले ही जाना है।

कुछ लोग कहते हैं कि बदल गये है हम,
उनको ये नही पता कि अब सभंल गये है हम।


चुप रहना ही बेहतर है, जमाने के हिसाब से
धोखा खा जाते है, अक्सर ज्यादा बोलने वाले! ?

इस जमाने में वफ़ा की तलाश ना कर मेरे दोस्त,
वो वक़्त और था जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते। ?

यूँ ही बे-सबब नही बनते भँवर दरिया में,
ज़ख्म कोई तो तेरी रूह में उतरा होगा। ?‍♀️

हम भी कभी मुस्कुराया करते थे,
उजाले मे भी शोर मचाया करते थे,
उसी दिए ने जला दिया मेरे हाथो को,
जिस दिए को हम हवा से बचाया करते थे! ??
hindi shayari



माँ ना होती तो वफ़ा कौन करेगा,
ममता का हक़ भी कौन अदा करेगा,
रब हर एक माँ को सलामत रखना,
वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा! ? ?


ज़रा सी बात देर तक रूलाती रही,
खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही..
कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही!

रिश्ता हमारा इस जहां में सबसे प्यारा हो,
जैसे जिंदगी को सांसों का सहारा हो,
याद करना हमें उस पल में..
जब तुम अकेले हो और कोई ना तुम्हारा हो! GN ??

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी खामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें! ?


ज़रा सी ज़िंदगी है, अरमान बहुत हैं,
हमदर्द नहीं कोई, इंसान बहुत हैं,
दिल के दर्द सुनाएं तो किसको,
जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत हैं। ?


मोहबत को जो निभाते हैं उनको मेरा सलाम है,
और जो बीच रास्ते में छोड़ जाते हैं उनको,
हमारा ये पेघाम हैं..
वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो,
वरना खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो! ?

कल खेल में मैं नहीं रहूँगा
इजहारे मुहब्बत नहीं करुँगा,
आज पल भर सुन लो फसाना मेरा,
कल से कोई गजल मैं नहीं कहूँगा! ??


उदास नहीं होना क्योंकि मैं साथ हूँ,
सामने न सही पर आस-पास हूँ,
पल्को को बंद कर जब भी दिल में देखोगे,
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ..!! ? ?


गमों की मुझ पर कुछ ऐसी नजर हो गई,
जब भी हम हँसे ये आँखे नम हो गई,
हम रोऐ भी तो वो जान ना सके और
वो उदास भी हुऐ तो हमें खबर हो गई! ?

चाँद का क्या कसूर अगर रात बेवफा निकली,
कुछ पल ठहरी और फिर चल निकली,
उन से क्या कहे वो तो सच्चे थे शायद,
हमारी तकदीर ही हमसे खफा निकली! ? ?


वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी,
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी,
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना,
वो नादान है यारो.. अपना हाथ जला लेगी! ?

ज़िंदगी में बार बार सहारा नही मिलता,
बार बार कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
है जो पास उसे संभाल के रखना,
खो कर वो फिर कभी दुबारा नही मिलता! ? ?


कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया,
न शकल बदली न ही बदला मेरा किरदार,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया! ?

कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल,
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल,
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही,
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल। ?


बिछड़ के तुमसे जिंदा हूँ, मेरी तकदीर तो देखो,
कभी आकर मेरे हालात की तस्वीर तो देखो,
देकर प्यार की दौलत खरीदे खून के आंसू,
मिली जो इश्क में हमको जागीर तो देखो। ?


प्यार कहाँ अपनी किस्मत में,
हमने तो धोखों का दीदार किया है,
लुटा हमें उसी ने उस जगह जब जहां..
हमने हंसकर प्यार से प्यार की बात किया है! ?

सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो. ? ?

होंठों पे उल्फत के फ़साने नहीं आते,
जो बीत गए फिर वो ज़माने नहीं आते,
दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द,
कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते। ?


अब तो आँसू भी नही आते आँखों में,
हर ज़ख़्म नासूर सा लगता है,
मोहब्बत ऐसे मोड़ पर लाई है के..
अब अपना नाम भी बेगाना सा लगता है। ?

चिंगारी का खौफ न दो हमें,
दिल में आग का दरिया बसाये बैठे हैं,
जल जाते कब के इस आग में,
मगर खुद को आंसुओं में भिगोये बैठे हैं। ?

ज़िन्दगी के उलझे सवालो के जवाब ढूंढता हु,
कर सके जो दर्द कम, वोह नशा ढूंढता हु,
वक़्त से मजबूर, हालात से लाचार हु मैं,
जो देदे जीने का बहाना ऐसी राह ढूंढता हु!

सदक़ा भी दे दिया है नज़र भी उतार दी,
दौलत सुकूनो चैन की सब मुझपे वार दी,
कल शाम मैंने क्या कहा तबीयत ख़राब है,
माँ ने तमाम रात दुआ में गुज़ार दी! ? ?

कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर,
वो मिले भी तो एक किनारा बनकर,
हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह,
बस एक इंतज़ार है साथ सहारा बनकर। ?

लोग प्यार दिल से नहीं चेहरे से करते है,
वो दिल पे नहीं सुंदरता पे मरते है,
हम सुन्दर नहीं पर दिल के साफ़ है,
इसीलिए बहुत काम लोग हमें पसंद करते है। ?


दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है.

मौत के बाद याद आ रहा है कोई,
मिट्ठी मेरी कबर से उठा रहा है कोई,
या खुदा दो पल की मोहल्लत और दे दे,
उदास मेरी कबर से जा रहा है कोई. ?


चुप ना होगी हवा भी, कुछ कहेगी घटा भी,
और मुमकिन है तेरा, जिक्र कर दे खुद़ा भी,
फिर तो पत्थर ही शायद ज़ब्त से काम लेंगे,
हुस्न की बात चली तो, सब तेरा नाम लेंगे। ?

लडखडाया है जीतना वो संभल जायेगा,
वक्त आनें पे वो भी जाहिर बदल जायेगा,
आज कहते हो ये क्या-क्या लिखते हो तुम,
देखना जमाना मेरे गीत जब कल गायेगा। ? ?

तेरे सीने का दिल भी धड़कता होगा,
मुझे देखने को तू भी तरसता होगा.
ये मानने में हर्ज ही क्या है,
की मुझे याद कर तू भी कभी सिसक्ता होगा.


इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है,
बड़ी मुस्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो,
पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है। ?

लाजवाब है मेरी जिंदगी का फसाना,
कोई सीखे मुझसे हर पल मुस्कुराना,
पर कोई मेरी हंसी को नजर न लगाना,
बहुत दर्द सहकर सीखा है हम ने मुस्कुराना।

Post a Comment

0 Comments