header ads

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics sad  for girlfriend love 

इन्ही पत्थरों पे चल कर अगर आ सको तो आओ,

मेरे घर के रास्ते में कोई कहकशाँ नहीं है।

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics


आइने में अक्सर जो अक्स नज़र आता है,

खुद से लड़ता हुआ एक शख़्स नज़र आता है,

वो किसी बात पे खुद से खफा लगता है,

नाकाम मोहब्बत का नक्श नजर आता है।


तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं,

आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं,

पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर,

तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।


वही वहशत, वही हैरत, वही तन्हाई है मोहसिन,

तेरी आँखें मेरे ख़्वाबों से कितनी मिलती-जुलती हैं।


 मेरी कुटिया में नहीं और कहीं पर रख दो 

असमा लाए हो ले आओ जमीन पर रख दो 

अब कहाँ ढूँढने जाओगे हमारे कातिल 

आप तो कत्ल का इंजाम हमीं पर रख दो 

मैंने जिस ताक पे कुछ टूटे दिए रखे है 

चाँद तारों को भी ले जाके वहीं पे रख दो । 


परवाह करने वाले रूला जाते है,

अपना समझने वाले पराया बना जाते है,

चाहे जितनी वफाऐं कर लो इनसे,

न छोडेगे तुमको कहकर छोड जाते हैं….!


एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर

एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर

पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है

जो आए तुम्हे साथ लेकर..!!


आँखों मे ख्वाब उतरने नही देता

वो शख्स मुझे चैन से मरने नही देता

बिछड़े तो अजब प्यार जताता है खतों मे

मिल जाए तो फिर हद से गुजरने नही देता.



तेरे पास में बैठना भी इबादत

तुझे दूर से देखना भी इबादत….

न माला, न मंतर, न पूजा, न सजदा

तुझे हर घड़ी सोचना भी इबादत….



आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है।

क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है।

किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र

तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।

 

पलकों में कैद रहने दो सपनो को,

उन्हें तो हकीक़त में बदलना है,

इन आँखों की तो एक ही तमन्ना है,

की हर वक़्त आपको मुस्कुराते देखना है.


तेरे होते हुए भी तन्हाई मिली है,

वफ़ा करके भी देखो बुराई मिली है,

जितनी दुआ की तुम्हे पाने की,

उस से ज़यादा तेरी जुदाई मिली है…

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics

कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है,

जुदाई के बावजूद, भी तुझपे अधिकार है.

तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही,

मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार है.


तुम आये तो लगा हर खुशी आ गई,

यू लगा जैसे ज़िन्दगी आ गई…

था जिस घड़ी का मुझे कब से इंतज़ार

अचानक वो मेरे करीब आ गई …


वादा किया है तो निभाएगे,

सूरज की किरण बनकर तेरी छत पर आएगे.

हम है तो जुदाई का गम कैसा,

तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएगे.



रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं,

प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं

इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने

अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं।


मैं इस उम्मीद पर डूबा के तू बचा लेगा

अब इससे ज्यादा मेरा इम्तेहान क्या लेगा

मैं बुझ गया तो हमेशा के लिए बुझ ही जाऊँगा

कोई चिराग नहीं हूँ के फिर जला लेगा


सुना है वो कह कर गये है के अब तो हम,

सिर्फ़ तुम्हारे ख्वाबो मैं ही आएँगे,

कोई कह दे उनसे की वो वादा कर ले हम से,

ज़िंदगी भर के लिए हम सो जाएँगे…



तेरे होने पर खुद को तनहा समझू !

मैं बेवफा हूँ या तुझको बेवफा समझू !!

ज़ख्म भी देते हो मलहम भी लगाते हो !

ये तेरी आदत हैं या इसे तेरी अदा समझू!!


आरज़ू मेरी, चाहत तेरी,

तमन्ना मेरी, उल्फत तेरी,

इबादत मेरी, मोहब्बत तेरी,

बस तुझ से तुझ तक है दुनिया मेरी



कभी तू मिला बादशाह बन के

कभी तू मिला फकीर बन के

तेरी लीला तू ही जाने मेरे सांई

मै क्या जानू, मुझे तो तू मिला

मेरे दाता मेरी तक़दीर बन के


तेरे होने पर खुद को तनहा समझू !

मैं बेवफा हूँ या तुझको बेवफा समझू !!

ज़ख्म भी देते हो मलहम भी लगाते हो !

ये तेरी आदत हैं या इसे तेरी अदा समझू!!


वादा किया है तो निभाएगे,

सूरज की किरण बनकर तेरी छत पर आएगे.

हम है तो जुदाई का गम कैसा,

तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएगे.


वक्त के मोड़ पे ये कैसा वक्त आया है

जख्म दिल का जुबाँ पर आया है

न रोते थे कभी कांटो की चुभन से

आज न जाने क्यो फूलो की खुशबू से रोना आया है…


तेरी दोस्ती एक नशा है,

तभी तो सारी दुनियां हमसे खफा है,

ना करो हमसे इतनी दोस्ती,

कि दिल हमसे पूछे तेरी धड़कन कहाँ है।

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics


दुनिया में किसी से कभी प्यार मत करना,

अपने अनमोल आँसू इस तरह बेकार मत करना,

कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं,

फूलों पर कभी इस तरह तुम ऐतबार मत करना..


कभी तन्हा हो तो वो लम्हा याद करना,

बस एक बार,हमें शिद्दत से याद करना..

तुम्हें,उस नाकाम मोहब्बत की कसम है,

न इस तरह,फिर किसी को बर्बाद करना.



दो जवाँ दिलों का ग़म दूरियाँ समझती हैं

कौन याद करता है हिचकियाँ समझती हैं।

तुम तो ख़ुद ही क़ातिल हो, तुम ये बात क्या जानो

क्यों हुआ मैं दीवाना बेड़ियाँ समझती हैं।


हमने भी बहुत दिल लगा कर देख लिया है,

चलो थोड़ी दिल्लगी भी कर ले,

जहां वफ़ा नहीं जीत सकी,

थोड़ी बेवफाई ही आज़मा ले…



हम ज़िन्दगी में आपसे खफा हो नहीं सकते,

मोहब्बत के रिश्ते बेवफा हो नहीं सकते,

आप भले ही याद किये बिना सो जाओ,

हम याद किये बिना सो नहीं ..


ऑंख से ऑंख मिलाता है कोई,

दिल को खिंच लिये जाता है कोई,

बहुत हैरत है के भरी महफ़िल में,

मुझ को तनहा नज़र आता है कोई।


तुम न आए तो क्या सहर न हुई,

हाँ मगर चैन से बसर न हुई,

मेरा नाला सुना ज़माने ने,

एक तुम हो जिसे ख़बर न हुई…



हर रिश्ते में विश्वास रहने दो;

जुबान पर हर वक़्त मिठास रहने दो;

यही तो अंदाज़ है जिंदगी जीने का;

न खुद रहो उदास, न दूसरों को रहने दो..!


अज़ीज़ भी वो है, नसीब भी वो है

दुनिया की भीड़ मैं करीब भी वो है

उनकी दुआओ से चलती है ज़िंदगी

क्योंकि

खुदा भी वो है और तक़दीर भी वो है..


तेरा मेरा रिश्ता है कैसा

इक पल दूर गंवारा नही

तेरे लिए हर रोज है जीते

तुझको दिया मेरा वक्त सभी

कोई लम्हा मेरा न हो तेरे बिना

हर सास पे नाम तेरा



न किसी के दिल की हूँ आरज़ू

न किसी नज़र की हूँ जुस्तजू

मैं वो फूल हूँ जो उदास हो

न बहार आए तो क्या करूँ


फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में,

फर्क होता है किस्मत और लकीर में..

अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना..

कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।।

 

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics


फेर कर मुंह आप मेरे सामने से क्या गये,

मेरे जितने क़हक़हे थे आंसुओं तक आ गये,

भला ऐसी भी सनम आख़िर बेरुख़ी है क्या ?

न देखोगे हमारी बेबसी क्या…….?


एक मुलाक़ात करो हमसे इनायत समझकर

हर चीज़ का हिसाब देंगे क़यामत समझकर

मेरी दोस्ती पे कभी शक ना करना

हम दोस्ती भी करते है इबादत समझ कर


थाम लेना हाथ मेरा कभी पीछे जो छूट जाऊँ

मना लेना मुझे जो कभी तुमसे रूठ जाऊँ

मैं पागल ही सही मगर मैं वो हूँ

जो तेरी हर आरजू के लिये टूट जाऊँ ll


थक गये हौसले अब मुझे परवाज़ न दो

फिर से उड़ने को खाली आकाश न दो

ये तनहाई का सफर बहुत तड़पाता है मुझे

यादों के दरीचे से तुम मुझे आवाज न दो


चांदनी रात अलविदा कह रही है,

ठंडी सी हवा दस्तक दे रही है,

जरा उठाकर देखो नज़ारों को,

एक प्यारी सी सुबह आपको शुभ दिवस कह रही है!

दोस्त आप का दिन शुभ रहे !!!!!


सूरज निकलने का वक्त हो गया,

फूल खिलने का वक्त हो गया,

मीठी नींद से जागो मेरे दोस्त,

सपने हकीकत में लाने का वक्त हो गया !!



गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!

इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!

थक के जब सितारों से पनाह ली!

नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!


खुशबू तेरी प्यार की मुझे महका जाती है,

तेरी हर बात मुझे बहका जाती है,

साँस तो बहुत देर लेती है आने में,

हर साँस से पहले तेरी याद आ जाती है।


जिंदगी के भीड़ में बहुत से यार मिलेंगे

हम क्या हमसे अच्छे हज़ार मिलेंगे

इन हजारों के भीड़ में हमें भूलना जाना

हम भी तुम्हें कहां बारबार मिलेंगे


ना हो कोई हमारा हम परेशान अच्छे,

बेवफाओं की महफ़िल से बे जुबां अच्छे,

अगर मिले फुरसत तो याद कर लेना,

वरना तुम वहां अच्छे हम यहाँ अच्छे..

 

sad Shayari in Hindi for life very sad Shayari lyrics


सुंदरता हो न हो, सादगी होनी चाहिए,

खुशबू हो न हो, महक होनी चाहिए,

रिश्ता हो न हो, बंदगी होनी चाहिए,

मुलाकात हो न हो, बात होनी चाहिए,


उल्फत की जंजीर से डर लगता हैं,

कुछ अपनी ही तकदीर से डर लगता हैं,

जो जुदा करते हैं, किसी को किसी से,

हाथ की बस उसी लकीर से डर लगता हैं.


कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है,

जुदाई के बावजूद, भी तुझपे अधिकार है.

तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही,

मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार है.


सितारों की महफ़िल ने करके इशारा,

कहा अब तो सारा जहाँ है तुम्हारा,

मुहब्बत जवाँ हो, खुला आसमाँ हो,

करे कोई दिल आरजू और क्या…!


अब ख़ुशी है न कोई दर्द रुलाने वाला

हमने अपना लिया हर रंग ज़माने वाला

इक मुसाफिर के सफर जैसी है सबकी दुनिया..

कोई जल्दी में,कोई देर से जानेवाला ।


एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं

एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं

ज़िंदगी के सफ़रमे संभालकर चलना

एक ग़लती हज़ारो सपने जलाकर राख बना देती है


तन्हाई में अकेलापन सहा जायेगा,

लेकिन महफ़िल में अकेले रहा न जायेगा,

आपका साथ न हो तो भी जी लेंगे

पर साथ आपके कोई और हो तो सहा न जायेगा


मोहब्बत की सजा बेमिसाल दी उसने,

उदास रहने की आदत सी डाल दी उसने,

मैंने जब अपना बनाना चाहा उसको,

बातों बातों में बात टाल दी उसने…..।।



“काश कि तुम मौत होती, एक दिन ही सही मेरी तो होती ”


तो मैंने भी Comment कर दिया कि भाई –

“अगर वो मौत होती तो एक दिन सबकी होती”


भाई ने तुरन्त ही Unfriend कर दिया…


बताइये अब तो Logic भी देना गलत हो गया !!


तुम से नाता है यूँ वफाओं का,

जैसे खुशबू से है हवाओं का,

जैसे रिश्ता है धुप छाओं का,

जैसे जिस्म से रूह और जान का !


दीप रातों को जलाके रखिये

फूल काँटों में खिलाके रखिये।

जाने कब घेर ले अकेलापन

एक-दो दोस्त बनाके रखिये।


बहुत खूबसूरत है आखै तुम्हारी,

इन्हें बना दो किस्मत हमारी.

हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ,

अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी…


एक अजीब सा मंजर नज़र आता हैं …

हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं

कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना ..

हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है



उल्फत बदल गई, कभी नियत बदल गई

खुदगर्ज जब हुए, तो फिर सीरत बदल गई

अपना कुसूर दूसरों के सर पर डाल कर

कुछ लोग सोचते हैं हकीकत बदल गई..



वादा भी करो और इरादा भी करो,

ख्वाहिशों में खुद को आधा ना करो,

बदल देते है लोग कर्म से ही दुनिया,

तक़दीर पर भरोसा कुछ ज्यादा ना करो !!


कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं,

उनको ये नहीं पता की संभल गया हूँ मैं,

उदासी आज भी मेरे चेहरे से झलकती है,

अब दर्द में भी मुस्कुराना सीख गया हूँ मैं।।


दास्तान मेरे लाड़-प्यार की बस,

एक हस्ती के गिर्द घूमती है,

प्यार जन्नत से इसलिए है मुझे,

क्योंकि ये भी मेरी माँ के क़दम चूमती है।


कई सदियों में आती है कोई सूरत हसीन इतनी

हुस्न पर हर रोज कहाँ ऐसे शबाब आते है

रोशनी के वास्ते तो उनका नूर ही काफी है

उनके दीदार को आफताब और महताब आते है


ज़िन्दगी की असली उड़ान बाकी है

ज़िन्दगी के कई इम्तेहान बाकी है

अभी तो नापी है मुट्ठी भर ज़मीन

अभी तो सारा आसमान बाकी है



तू सफर मेरा है तू ही मेरी मंज़िल

तेरे बिना गुज़ारा ऐ दिल है मुश्किल

तू मेरा खुदा तूही दुआ में शामिल

तेरे बिना गुज़ारा ऐ दिल है मुश्किल


जिन शामों में तुझे भूलना चाहें

वही रातें अज़ाब होती हैं

अपनी यादों के सिलसिले रोको

मेरी नींदे खराब होती हैं


एक लफ्ज़ है जुदाई

इसे सह कर तो देखो !

तुम टूट के बिखर ना जाओ तो कहना !!

एक लफ्ज़ है खुदा

उसे पुकार कर तो देखो !

सब कुछ पा ना लो तो कहना !!!


मैने कब कहा मुझे गुलाब दे

या फिर मुहब्बत से आवाज दे

आज बहुत उदास है दिल मेरा

गैर बन के ही सही मगर मुझे तू आवाज दे


न जाने इतनी मोहब्बत कहाँ से आ गयी

उस अजनबी के लिए,

की मेरा दिल भी उसकी खातिर अक्सर

मुझसे रूठ जाया करता हे ..!!


दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं!

हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ!

कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब!

मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं


एक मुस्कान तू मुझे एक बार दे दे।

ख्वाब में ही सही, एक दीदार दे दे ।।

बस एक बार कर लें तू आने का वादा ।

फिर उम्र भर का चाहे इंतजार दे दे ।।


ऐ सनम कभी प्यार मत करना,

हो जाये तो इंकार मत करना,

निभा सको तो निभा देना,

लेकिन किसी की जिंदगी बरबाद मत करना !


आसमान के तारे पूछते है,

क्या तुम्हे आज भी इंतज़ार है किसी के लौटने का…

दिल भी मुस्कुरा कर कहता है

मुझे तो अभी भी यकीन नही उनके चले जाने का…

 


दोस्ती तो ज़िन्दगी का वो खूबसुरत लम्हा है,

जिसका अंदाज सब रिश्तों से अलबेला है,

जिसे मिल जाये वो खुश…………,

जिसे ना मिले वो लाखों में अकेला है|


बड़ी मुद्दत से चाहा है तुम्हें;

बड़ी दुआओं से पाया है तुम्हें;

तुम ने भुलाने का सोचा भी कैसे;

किस्मत की लकीरों से चुराया है तुम्हें।


हर रात उनके इंतज़ार में गुज़री

जैसे कोई ज़िंदगी का सहारा हो गया था,

जलने लगे थे अंधेरो में चिराग़ जैसे

उनके निगाहों से इशारा हो गया था ।


तुम दूर हो मगर यह एहसास होता है,

कोई है जो हर पल दिल के पास होता है,

याद तो सबकी आती है,

मगर तुम्हारी याद का अंदाज़ बहुत ख़ास होता है


नयनों से नैन मिलाकर, महोब्बत का इजहार करूँ

बन कर ओस की बुँदे., जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ

संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी, इश्क के सफर में

थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे पे ऐतबार करूँ


आँखों मे आँसु का पता न चलता,

दिल को दर्द का एहसास न होता,

कितना हसीं होता ये जिंदगी का सफ़र,

अगर कभी मिलकर बिछड़ना न होता…!


बनके सावन कहीं वो बरसते रहे

इक घटा के लिए हम तरसते रहे

आस्तीनों के साये में पाला जिन्हें,

साँप बनकर वही रोज डसते रहे


जिस ने ज़ल्द बाज़ी में शादी की

उसने अपना जीवन बिगाड़ लिया।।


वाह! वाह!


और जिसने सोच समझ कर की

उसने कौन सा तीर मार लिया।।



चाहत के ये कैसे अफ़साने हुए;

खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए;

अब दुनिया की नहीं कोई परवाह हमें;

इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए।


ये हवा, ये रात ये चाँदनी

तेरी एक अदा पे निसार हैं

मुझे क्यों ना हो तेरी आरजू

तेरी जुस्तजू में बहार है


लोग बोंते हैं प्यार के सपने

और सपने बिखर भी जाते हैं

एक एहसास ही तो है ये वफ़ा

और एहसास मर भी जाते हैं


कुछ लुटकर, कुछ लूटाकर लौट आया हूँ,

वफ़ा की उम्मीद में धोखा खाकर लौट आया हूँ |


अब तुम याद भी आओगी, फिर भी न पाओगी,

हसते लबों से ऐसे सारे ग़म छुपाकर लौट आया हूँ |


एक नज़र है तू.दीदार के लिए

एक लम्हा है इंतज़ार के लिए

एक ख्वाब है तू जिसे मेरी आखें देखे

एक तस्वीर है तू.. बस प्यार के लिए


सुना था कभी किसी से,

ये भगवान की दुनिया है,

और मोहब्बत से चलती है…

करीब से जाना तो समझा,

ये स्वार्थ की दुनिया है,

और बस जरुरतों से चलती है…


मेरे दुश्मन भी, मेरे मुरीद हैं शायद,

वक़्त बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं,

मेरी गली से गुज़रते हैं छुपा के खंजर,

रु-ब-रु होने पर सलाम किया करते हैं !

Post a Comment

0 Comments